चीन के वन बेल्‍ट वन रूट को टक्‍कर देने के लिए भारत ने बनाया नया प्‍लान, जापान भी आया साथ

0

नई दिल्ली। अपनी सम्राज्‍यवादी नीति के तहत चीन अपने कई अहम प्रोजेक्‍ट पर काम कर रहा है। इसलिए वह लगातार दक्षिणी एशिया में पकड़ मजबूत करने में जुटा है। जिसका उदाहरण वन बेल्‍ट वन रोड़ है। इसके तहत वह क्रॉस बॉर्डर कनेक्टिवीटि को बढ़ावा देने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। लेकिन चीन के इस प्रकार के कदम का भारत ने हमेशा से विरोध किया है। लेकिन सभी दक्षिणी एशियाई देश इसके साथ हैं।

इसलिए चीन को करारा जवाब देने के लिए पीएम मोदी ने काउंटर बैलेंस की रणनीति अपनाई है। इस नीति के मुताबिक मोदी सरकार ने भारत ऐक्ट ईस्ट पॉलिसी पर जोर दिया है। भारत का साथ देने के लिए जापान भी साथ आया है। इस खास प्रोजेक्‍ट को अंजाम देने के लिए इसी महीने 11 और 12 दिसंबर को लेकर एक आयोजन किया जा रहा है। जिसमें आसियान देशों के साथ-साथ जापान भी भाग लेगा।

यह भी पढ़े-  नेपाल मे वामपंथी सरकार बनाने के करीब, चीन हुआ खुश

मिल रही जानकारी के अनुसार इस समिट का उद्देश्य दक्षिण पूर्वी एशिया में आर्थिक और औद्योगिक रिश्तों को मजबूत कर इस पर नए काम शुरू करना है। वहीं अगर विशेषज्ञों की माने तो चीन का OBOR प्रोजेक्ट कई एशियाई देशों को कर्ज में डुबाने वाला चीनी कदम साबित हो सकता है।

loading...
शेयर करें