राजनयिक उत्पीड़न मामले में भारत ने पाक को दिया करारा जवाब, कही ये बात

0

नई दिल्ली। राजनयिकों के साथ उत्‍पीड़न को लेकर एक बार फिर भारत और पाकिस्‍तान आमने-सामने आ गए हैं। पाकिस्‍तान ने आरोप लगाया है कि भारत में पाकिस्‍तान के राजनयिकों और उनके परिवार के सदस्‍यों के साथ अच्‍छा व्‍यवहार नहीं किया जाता है। भारत से बात करने के बाद भी कोई हल न निकलने के कारण पाकिस्‍तान अपने राजयनिक सुहैल महमूद को वापस बुला लिया।

ravish

इस मुद्दे पर भारत ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि मैं हैरान हूं कि यह मुद्दा क्यों उठ रहा है। भारत चाहता है कि यह मुद्दा राजनयिक स्तर पर बातचीत के जरिए सुलझे।

उन्होंने आगे कहा, भारत इस मुद्दे पर लगातार नजर बनाए हुए हैं हालांकि पाक का अपने उच्चायुक्त को बातचीत के लिए बुलाना एक रूटीन प्रक्रिया है और इसमें रीकॉल जैसी कोई बात नहीं है। हम ये सुनिश्चित कर रहे हैं कि पाकिस्तान में हमारे राजनयिकों को प्रताड़ित न किया जाए और उनके काम में किसी भी तरह की रुकावट न डाली जाए। भारत ने पाकिस्तान के साथ बीते कई महीनों में कई मुद्दे उठाए लेकिन हमें पाकिस्तान से किसी भी मुद्दे का समाधान नहीं मिला।

बता दे कि बीते दिनों पाकिस्तान ने आरोप लगाया था कि भारत में मौजूद उसके राजनयिकों और उनके परिवारों को परेशान किया जा रहा है। दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग ने विदेश मंत्रालय को बताया कि पिछले कुछ दिनों में कथित उत्पीड़न की घटनाएं हुई हैं।

पकिस्तान ने ये भी आरोप लगाया था कि राजनयिक कर्मचारियों के काम से लौटते वक्त कर्मचारियों को रोका जाता है। उनके वाहनों के साथ कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं। पाकिस्तान का कहना है कि परिवारों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

loading...
शेयर करें