Forex रिज़र्व रैंक में इस देश को पछाड़ भारत हुआ बेहतर

नई दिल्ली : ब्लूमबर्ग में छपी खबर के अनुसार हाल ही में भारत ने Forex रिज़र्व के मामले में रूस को पीछे छोड़ दिया और अब भारत Forex रिज़र्व के मामले में दुनिया का चौथा सबसे बड़ा देश बन गया। रूस और भारत दोनों देशों के Forex रिज़र्व में कई महीनों की तेज़ी के बाद अचानक गिरावट दर्ज की गई थी लेकिन इस के बावजूद भी भारत ने खुद को संभाल लिया। RBI ने हाल ही में $ 10.014 बिलियन अमेरिकी डॉलर ख़रीदे थे जिसकी वजह से ऐसा मुमकिन हुआ।

मौजूदा समय में, Forex रैंक में, चीन पहले नंबर पर है,जिसके बाद जापान और स्विट्जरलैंड हैं।

डॉयचे बैंक के कौशिक दास के हवाले से ब्लूमबर्ग ने कहा कि भारत ने हाल के सालों में अपने रिज़र्वस में काफी सुधार किया है। भारत के पास अब लगभग 18 महीनों के इम्पोर्ट को कवर करने के लिए पर्याप्त फॉरेन रिज़र्व है। विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसा करंट अकाउंट सरप्लस के बढ़ने और foreign direct investment में हुए निवेश की वजह से हुआ है।

2020 की गलती से मिले सबक की वजह से ऐसा मुमकिन हुआ

2020 में,आरबीआई ने फॉरेक्स मार्केट में 88 बिलियन डॉलर का निवेश किया था । जिसके बाद भारतीय रुपया एशिया में सबसे खराब प्रदर्शन करने वाली कर्रेंसीज़ में से एक बन गया था।  इसके बाद,आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने एक मार्केट सेंट्रल बैंक बनाने का आईडिया दिया ताकि नियर फ्यूचर में इकॉनमी को इस तरह के किसी भी झटके से बचाया जा सके और उन्होंने कहा था कि ऐसा करने के लिए foreign exchange reserves को मज़बूत करना ही होगा।

Related Articles