HRC मीटिंग में भारत ने पाकिस्तान और तुर्की को सुनाया खरी खरी

ह्यूमन राइट्स काउंसिल(HRC) मीटिंग में पाकिस्तान और तुर्की ने भारत को घेरने की कोशिश की। जिसका जवाब देते हुए भारत ने उसे खरी खरी सुनाई। भारत ने कहा, पूरी दुनिया जानती है कि पाकिस्तान आतंकवाद का पूरा गढ़ है।

0

नई दिल्ली: ह्यूमन राइट्स काउंसिल(HRC) मीटिंग में पाकिस्तान और तुर्की ने भारत को घेरने की कोशिश की। जिसका जवाब देते हुए भारत ने उसे खरी खरी सुनाई। भारत ने कहा, पूरी दुनिया जानती है कि पाकिस्तान आतंकवाद का पूरा गढ़ है।

पाकिस्तान को दिया मुहतोड़ जवाब

ह्यूमन राइट्स काउंसिल की सोमवार को हुई मीटिंग में पाकिस्तान और तुर्की ने भारत को घेरने की कोशिश की। लेकिन वहीं भारत के प्रतिनिधि ने कड़े तेवर में जवाब देते हुए कहा कि दुनिया जानती है कि पाकिस्तान आतंकवाद का गढ़ है। हिंदू, सिख और क्रिश्चियन्स को वहां परेशान किया जा रहा है। आए दिन उनकी हत्या जा रही है।

वहीं भारतीय प्रतिनिधि ने तुर्की को भी जवाब देते हुए कहा कि तुर्की अपने यहां लोकतंत्र का हाल देखे और उसे बचाए। भारत के मामलों में दखलंदाजी ना करे।

मीटिंग में पाकिस्तान पर बरसा भारत

HRC मीटिंग में पाकिस्तान के मानवाधिकार के भाषण को लेकर भारत ने जवाब देते हुए कहा कि उसे मानवाधिकारों पर भाषण देने का अधिकार नहीं है। वहां हिंदू, सिख और क्रिश्चियन्स की हत्या की जा रही है। दुनिया जानती है कि जिन आतंकियों को यूएन ने बैन किया है। उन्हें पाकिस्तान पेंशन देता है। और वहां के प्रधानमंत्री खुद मानते हैं कि उनके देश ने हजारों आतंकियों को ट्रेनिंग और फंड दिया है।

आतंकियों को पनाह दे रहा पाकिस्तान

भारत ने मीटिंग में आगे बोलते हुए कहा कि पाकिस्तान आतंकियों की फंडिंग नहीं रोक पा रहा है। उन्हें पनाह दे रहा है। कश्मीर में आतंकियों की घुसपैठ कराता है। हिंदू, सिख और ईसाई समुदाय की महिलाओं और लड़कियों को अगवा करने के बाद उनका धर्म परिवर्तन करवाता है।

तुर्की पर भी साधा निशाना

HRC मीटिंग में भारत ने तुर्की को भी जमकर लताड़ा। भारत ने कहा तुर्की OIC का सहारा लेने की कोशिश ना करे। इसका पाकिस्तान गलत इस्तेमाल कर रहा है। और यह बेहतर होगी कि तुर्की अपने देश की लोकतंत्र को बचाए।

loading...
शेयर करें