भारत ने पाकिस्तान के आरोपों को किया खारिज, कहा- ‘सबूत होने का दावा काल्पनिक है’

भारत ने पाकिस्तान के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि पड़ोसी देश में आतंकवादी हमले में शामिल होने के ‘सबूत होने’ का दावा काल्पनिक है।

नई दिल्ली: भारत ने पाकिस्तान के द्वारा लगाए गए आतंकवादी हमले में शामिल होने के सबूत को खारिज कर दिया है। पाकिस्तान द्वारा लगाए गए देश में आतंकवादी हमले में शामिल होने के ‘सबूत होने’ का दावा काल्पनिक हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा, “ यह भारत-विरोधी दुष्प्रचार की एक और व्यर्थ कवायद है। भारत के खिलाफ ‘सबूत होने’ के तथाकथित दावों की कोई प्रामाणिकता नहीं है और यह मनगढ़ंत और काल्पनिक हैं।

अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय उसकी चालों से वाकिफ है। और पाकिस्तान के आतंकवाद को प्रायोजित करने के सबूतों को उसके स्वयं के नेतृत्व ने कबूल किया है।” उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में वैश्विक आतंकवादी ‘ओसामा बिन लादेन’ पाया गया था। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने उसे संसद में शहीद बताया था। उन्होंने पाकिस्तान में 40 हजार आतंकवादियों के होना स्वीकार किया है। उनके विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ने पुलवामा आतंकवादी हमले में अपने प्रधानमंत्री के नेतृत्व में पाकिस्तान के शामिल होने और सफलता का दावा किया। इस आतंकवादी हमले में 40 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। ”

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान संघर्ष विराम समझौते का पालन नहीं कर रहा है। वह भारतीय सीमा में आतंकवादियों की घुसपैठ करने के लिए लगातार गोलाबारी कर रहा है। पाकिस्तान अपनी आंतरिक राजनीतिक और आर्थिक विफलताओं से ध्यान हटाने के लिए जानबूझकर ऐसा प्रयास कर रहा है।

बता दें कि हाल ही में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार के साथ एक संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि पाकिस्तान में हुए आतंकी हमलों के पीछे भारत का हाथ है।

यह भी पढ़ें: राष्ट्रीय प्रेस दिवस: सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दी शुभकामनाएं

Related Articles

Back to top button