भारत ने दुनिया के सामने पाकिस्तान का किया खुलासा, नगरोटा हमले के सबूत सौंपे

पाकिस्तान की नापाक हरकत को भारत ने एक बार फिर से नाकाम करते हुए दुनिया भर के सामने खुलासा किया है। आतंकियों की मंशा थी कि वे नगरोटा में हमला कर दहला देंगे

नगरोटा: पाकिस्तान की नापाक हरकत को भारत ने एक बार फिर से नाकाम करते हुए दुनिया भर के सामने खुलासा किया है। आतंकियों की मंशा थी कि वे नगरोटा में हमला कर दहला देंगे लेकिन भारत ने उनकी साजिश को नाकाम करते हुए पूरे प्रकरण में पाकिस्तान की भूमिका को पूरी दुनिया के सामने सामने पोल खोल दी।

भारत ने सोमवार को पाकिस्तान के खिलाफ हमले की साजिश से जुड़े कुछ साबुत एकत्रित किये है। नगरोटा हमले में मारे गये आतंकियों के कुछ साबुत छोड़े है जो भारतीय खुफिया एजेंसियों ने बरामद किया है, उसे कई प्रमुख देशों के राजनयिकों को अलग-अलग समूह में पाकिस्तान की नापाक साजिश की जानकारी दी गई। भारत ने पाकिस्तान की आतंकी साजिश के बारे में दुनिया के देशों को जानकारी देने की ठान ली है। इस कोशिश की कमान स्वयं विदेश सचिव हर्ष श्रृंगला ने संभाल ली है। इसी कड़ी में सोमवार को विदेश सचिव ने चुनिंदा देशों के मिशन प्रमुखों को हमले की साजिश से जुड़ी जानकारियों को साझा किया।

ये भी पढ़े : बेरोजगारों के हक़ की लड़ाई सड़क से संसद तक लड़ेंगे: संजय सिंह

नगरोटा मुठभेड़ से जुड़े दस्तावेज भारत ने सौपें

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी राजनयिक को भी नगरोटा मुठभेड़ से जुड़े दस्तावेज भारत ने सौपें है। 19 नवंबर को नगरोटा में हमले की साजिश को नाकाम करने के मामले को लेकर विदेश सचिव हर्षवर्द्धन श्रृंगला ने विदेशी मिशनों के प्रमुखों के समूह को साजिश के बारे में बताया किया। भारत ने विभिन्न देशों को सूचित किया है कि पाकिस्तान की आतंकी साजिश का सुरक्षा, कूटनीति और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई पर प्रतिकूल असर डालने वाली है।

ये भी पढ़े : केंद्र और राज्य सरकार ने कोरोना की चुनौती को अवसर मेें बदला: सीएम योगी

मिशन प्रमुखों को बताया

मिशन प्रमुखों को बताया गया कि पुलिस और खुफिया अधिकारियों को एके 47 राइफल्स और अन्य वस्तुओं पर निशानों के सबूत मिले हैं कि आतंकवादी पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के थे। 19 नवंबर की घटना जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान के जारी आतंकवादी अभियान का हिस्सा है और वर्ष 2020 में ही आतंकवादी हिंसा की 200 घटनाओं और 199 आतंकवादियों के मारे जाने से यह बात पुख्ता होती है।

Related Articles