हिंद महासागर क्षेत्र में शांति कायम करने के लिए इस देश की सहायता करेगा भारत

नई दिल्ली : हिंद महासागर क्षेत्र (Indian Ocean Region) में शांति और समृद्धि सुनिश्चित करने के लिए मानवीय सहायता प्रदान करेगा भारत। विदेश मंत्री एस जयशंकर (S. Jaishankar) ने सोमवार को कहा कि आने वाले दिनों में भारत मेडागास्कर (Madagascar) को खाद्य और चिकित्सा की आपूर्ति करेगा।

विदेश मंत्री जयशंकर ने एक ट्वीट में जानकारी दी कि उन्होंने सोमवार को अपने मेडागास्कर समकक्ष तेहिंद्रजनेरिवेलो जेकोबा लीवा से बात की है। जयशंकर ने ट्वीट में बताया कि उनकी जेकोबा लीवा के साथ अच्छी बात हुई है। उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में भारत मेडागास्कर को मानवीय सहायता प्रदान करेगा, जिसमें खाद्य और चिकित्सा आपूर्ति शामिल हैं।

इससे पहले, मेडागास्कर के रक्षा मंत्री, जनरल रिचर्ड रैकोटोनिरिना ने कहा था कि भारत हिंद महासागर क्षेत्र में एक प्रमुख खिलाड़ी है। पड़ोसी देश इस क्षेत्र में शांति और समृद्धि सुनिश्चित करने के लिए भारत पर भरोसा करते हैं।

बता दें कि मेडागास्कर (Madagascar) में ज्यादातर गुजरात से भारतीय प्रवासी आते हैं, और 20,000 से अधिक भारतीय मेडागास्कर के व्यापार और अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

सदियों पुराने हैं भारत-मेडागास्कर संबंध

मेडागास्कर और पश्चिमी भारत के बीच संबंध 18 वीं शताब्दी में शुरू हुआ था और 19 वीं शताब्दी के आते – आते दोनों देश नियमित रूप से व्यापार करने लगे। दोनों देशों के बीच अंतरराज्यीय संबंध 1954 में शुरू हुए जब स्वतंत्र भारत ने फ्रांसीसी-नियंत्रित मेडागास्कर में अपने वाणिज्य दूतावास (consulate) की स्थापना की। इसके बाद जब 1960 में मेडागास्कर स्वतंत्र हो गया, तो वाणिज्य दूतावास को दूतावास (embassy) में परिवर्तित हो गया।

इसे भी पढ़े: यूपी फिल्म सिटी के अंतर्गत इस महत्वपूर्ण संस्थान का होगा निर्माण, सीएम योगी ने दी मंजूरी

मार्च 2018 में, राम नाथ कोविन्द मेडागास्कर जाने वाले पहले भारत के पहले राष्ट्रपति बने थे, जहां पर उन्हें ‘ग्रैंड क्रॉस’ गैर-नागरिकों के लिए मेडागास्कर का सर्वोच्च सम्मान दिया गया था।

Related Articles