IPL
IPL

श्रीलंका में भारतीय राजदूत ने राम सेतु पर की पूजा, 12 शिवरात्रियों में से एक महाशिवरात्रि

महाशिवरात्रि के अवसर पर  श्रीलंका (Sri Lanka) में भारतीय राजदूत गोपाल बागले ने राम सेतु पर की पूजा- अर्चना

श्रीलंका: महाशिवरात्रि के अवसर पर श्रीलंका (Sri Lanka) में भारतीय राजदूत गोपाल बागले ने राम सेतु पर की पूजा- अर्चना। महाशिवरात्रि (Mahashivratri) हिन्दुओं का एक मुख्य त्यौहार है। यह भगवान शिव का प्रमुख पर्व है। फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी को महाशिवरात्रि पर्व मनाया जाता है। ऐसा माना जाता है कि सृष्टि का प्रारंभ इसी दिन से हुआ। पौराणिक कथाओं के अनुसार इस दिन सृष्टि का आरम्भ अग्निलिंग अर्थात् जो महादेव का विशालकाय स्वरूप है उसके उदय से हुआ।

12 शिवरात्रियों में से एक महाशिवरात्रि

 

इसी दिन भगवान शिव का विवाह देवी पार्वती के साथ हुआ था। साल में होने वाली 12 शिवरात्रियों में से महाशिवरात्रि को सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। भारत सहित पूरी दुनिया में महाशिवरात्रि का पावन पर्व बहुत ही धूम-धाम और बहुत ही उत्साह के साथ मनाया जाता है। कश्मीर शैव मत में इस त्यौहार को हर-रात्रि और बोलचाल में ‘हेराथ’ या ‘हेरथ’ भी कहा जाता हैं।

 

यह भी पढ़ेShare Market: महाशिवरात्रि के अवसर पर NSE और BSE आज रहेंगे बंद

ब्रह्मांड को नष्ट करने की क्षमता

समुद्र मंथन (Samudra Manthan) अमर अमृत का उत्पादन करने के लिए निश्चित था, लेकिन इसके साथ ही हलाहल नामक विष भी पैदा हुआ था। हलाहल विष में ब्रह्मांड को नष्ट करने की क्षमता थी और इसलिए केवल भगवान शिव इसे नष्ट कर सकते थे। भगवान शिव (Lord Shiva) ने हलाहल नामक विष को अपने कंठ में रख लिया था। जहर इतना शक्तिशाली था कि भगवान शिव बहुत दर्द से पीड़ित हो उठे थे और उनका गला बहुत नीला हो गया था। इस कारण से भगवान शिव ‘नीलकंठ’ (Neelkanth) के नाम से प्रसिद्ध हैं। उपचार के लिए चिकित्सकों ने देवताओं को भगवान शिव को रात भर जागते रहने की सलाह दी।

इस प्रकार, भगवान शिव (Lord Shiva) के चिंतन में एक सतर्कता रखी। शिव का आनंद लेने और जागने के लिए, देवताओं ने अलग-अलग नृत्य और संगीत बजाए। जैसे ही सुबह हुई उनकी भक्ति से प्रसन्न भगवान शिव ने उन सभी को आशीर्वाद दिया। शिवरात्रि (Shivratri) इस घटना का उत्सव है, जिससे शिव ने दुनिया को बचाया। तब से इस दिन, भक्त उपवास (Fast) करते है।

यह भी पढ़ेInd vs Eng T20: पहले मैच में इस Playing XI के साथ उतर सकती है Team India

Related Articles

Back to top button