Indian Armed Forces Flag Day 2020: जानें इस दिन सेना के ‘प्रतीक चिन्ह’ झंडे का वितरण क्यों होता है? इस वेबसाइट पर करें सैनिकों की मदद

Indian Armed Forces Flag Day: जानें इसका उद्देश्य और इस दिवस को आखिर क्यों मनाया जाता है?

नई दिल्ली: Indian Armed Forces Flag Day (सशस्त्र सेना झंडा दिवस) हर साल 7 दिसंबर के दिन मनाया जाता है। जिसका उद्देश्य भारतीय सेना के जावानों का आभार प्रकट करते हुए सेना के लिए धनराशि एकत्रित करना होता है। इस दिवस पर सशस्त्र सेना के प्रतीक चिन्ह झंडे को बांट कर धन राशि एकत्रित किया जाता है। इस झंडे में तीन रंग (लाल, गहरा नीला और हल्का नीला) तीनों सेनाओं को प्रदर्शित करते है।

झंडा दिवस के मुख्य उद्देश्य

सशस्त्र सेना झंडा दिवस पर धन एकत्रित करने के तीन मुख्य उद्देश्य होते है-

  • युद्ध के समय हुई जनहानि में सेना के जवानों की मदद करना।
  • सेना में कार्यरत कर्मियों और उनके परिवार के कल्याण और सहयोग हेतु सहयोग करना।
  • सेवानिवृत्त कर्मियों और उनके परिवार के कल्याण हेतु सहायता करना।

क्यों मनाया जाता है झंडा दिवस?

सशस्त्र सेना झंडा दिवस को झंडा दिवस भी कहा जाता है। यह दिवस 1949 से 7 दिसंबर के दिन हर साल मनाया जाता है, जिसका मुख्य उद्देश्य भारतीय सेना के जवानों का आभार प्रकट करते हुए सेना के लिए धनराशि एकत्रित करना होता है, अगर आप भी अपना योगदान सेना को देना चाहते है तो आप केन्द्रीय सैनिक बोर्ड की इस http://www.ksb.gov.in/index.htm वेबसाइट पर जाकर अपना योगदान दे सकते है।

सैनिकों के सहयोग में जावड़ेकर बोले

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर बोला,  आइए हम शहीदों और सैनिकों जो देश के सम्मान की रक्षा के लिए हमारी सीमाओं पर बहादुरी से लड़ते हैं उनको सम्मानित करने के रूप में उनके परिवारों के कल्याण में योगदान करें।

सम्मान में उपराष्ट्रपति की अपील  

देश के 13वें उपराष्ट्रपति वैंकया नायडू ने कहा, सशस्त्र सेना झण्डा दिवस के अवसर पर देशवासियों का आह्वाहन करता हूं कि युद्ध और शांति में देश की रक्षा के लिए समर्पित हमारे वीर सैनिकों और उनके परिजनों के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त करें।

यह भी पढ़े‘नई कृषि नीति को वापस ले और एमएसपी की गारंटी दे सरकार’

यह भी पढ़ेआंध्र प्रदेश में चिंताजनक स्थिति, अचानक बीमार हुए 250 से ज्यादा लोग

Related Articles