भारतीय गोल्फर Aditi Ashok गोल्ड लेने से चूकीं, लेकिन रच दिया इतिहास

टोक्यो ओलंपिक में भारत की महिला गोल्फर अदिति अशोक मेडल जीतने से चूक गईं है, लेकिन स्पर्धा में उनका प्रदर्शन शानदार रहा

टोक्यो: टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) का आज 16वां दिन है। भारत की महिला गोल्फर अदिति अशोक मेडल (Golfer Aditi Ashok) जीतने से चूक गईं है। वह महिलाओं की व्यक्तिगत स्ट्रोक प्ले इवेंट में चौथे स्थान पर रहीं। मुकाबले के चौथे और अंतिम राउंड के अंतिम क्षणों में की गई कुछ गलतियां अदिति को पदक से दूर ले गईं। वह तीन राउंड तक पदक की दौड़ में बनी हुई थीं। अमेरिका (America) की नैली कोर्दा ने गोल्ड मेडल (Gold Medal) जीता है।

चौथा स्थान भी अदिति के लिए सराहनीय कहा जाएगा। जिसमें उनका प्रदर्शन शानदार रहा। अमेरिका की नेली कोर्डा ने इस इवेंट का स्वर्ण जीता जबकि रजत के लिए जापान की मोने इनामी और न्यूजीलैंड की लीडिया को के बीच प्लेआफ मुकाबला होगा। भारत की एक अन्य गोल्फर दीक्षा डागर हालांकि प्रभावित नहीं कर सकीं। दीक्षा 60 गोल्फरों के बीच संयुक्त रूप से 50वें स्थान पर रहीं।

LPGA टूर पर खेलती हैं अदिति

अदिति अशोक भारत के दक्षिणी राज्य कर्नाटक की एक भारतीय गोल्फर और ओलंपियन हैं, जो लेडीज यूरोपियन टूर और LPGA टूर पर खेलती हैं। उन्होंने 2016 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में ओलंपिक खेलों की शुरुआत की। अदिति ने टोक्यो में 2020 ग्रीष्मकालीन ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया, गोल्फ अनुशासन में भारत का प्रतिनिधित्व किया, और खेलों में चौथे स्थान पर रहीं।

Image

 

अदिति का जन्म बैंगलोर में पंडित गुडलामणि अशोक और गुडलामणि माहेश्वरी के घर हुआ था। उन्होंने बैंगलोर के The Frank Anthony Public School में पढ़ाई की और 2016 में स्नातक की उपाधि प्राप्त की। जब अदिति ने 5 साल की उम्र में गोल्फ खेलना शुरू किया। तब बैंगलोर में केवल तीन गोल्फ कोर्स थे। जब उन्होंने दिलचस्पी दिखाई तो उनके पिता उसे कर्नाटक गोल्फ एसोसिएशन ड्राइविंग रेंज ले गए। उनके पिता अशोक रियो 2016 ओलंपिक में उनके कैडी थे। जबकि उनकी मां माहेश्वरी अशोक अब टोक्यो 2020 ओलंपिक के लिए उनकी कैडी हैं।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) ने शुभकामानाएं देते हुए कहा आज के ऐतिहासिक प्रदर्शन से आपने (अदिति अशोक) भारतीय गोल्फ को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया है। आपने बेहद शांत और शिष्टता के साथ खेला। धैर्य और कौशल के प्रभावशाली प्रदर्शन के लिए बधाई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने भी दी बधाई कहा, अदिति अशोक आपने अच्छा खेला। आपने टोक्यो ओलंपिक में जबरदस्त कौशल और संकल्प दिखाया। आपके भविष्य के लिए शुभकामनाएं।

यह भी पढ़ेयूपी में 501 बाढ़ शरणालय व 941 बाढ़ चौकी स्थापित, बांटे जा रहे राशन किट

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles