भारतीय मूल के फिल्ममेकर ने बनाई डॉक्यूमेंट्री, ऑस्कर के लिए हुई नॉमिनेट

सेंट लुईस सुपरमैन डॉक्यूमेंट्री फिल्म को हाल ही में ऑस्कर के लिए नॉमिनेट किया गया है। साल 2019 में आई इस डॉक्यूमेंट्री को इंडियन अमेरिकन फिल्ममेकर स्मृति मुद्रा और समी खान ने डायरेक्ट किया है। सेंट लुईस सुपरमैन को ऑस्कर की बेस्ट डॉक्यूमेंट्री शॉर्ट सब्जेक्ट कैटेगरी में नॉमिनेट किया गया है।

मलेशियाई टेंग पोह सी और चेयेने टैन द्वारा प्रोड्यूज फिल्म सेंट लुइस सुपरमैन 25 मिनट लंबी डॉक्यूमेंट्री है। इसके अलावा चार और डॉक्यूमेंट्री इन द अब्सेंस, लर्निंग टू स्केटबोर्ड इन ए वॉर जोन, लाइफ ओवरटेक्स मी और वॉक रन चा-चा को भी इसी कैटेगरी में नॉमिनेशन मिला है। आपको बताते चलें इस श्रेणी के लिए कुल 96 डॉक्यूमेंट्री ऑस्कर के लिए भेजी गई थीं। ऑस्कर पुरस्कार समारोह 9 फरवरी को होगा।

सेंट लुइस सुपरमैन डॉक्यूमेंट्री की कहानी की बात करें तो ये फ्रैंक्स जूनियर की जर्नी पर बेस्ड है। एक कार्यकर्ता और रैपर फ्रैंक्स ने साल 2016 में मिसौरी हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव में हिस्सा लिया था और इसे जीता था।

वो राजनीति में आने के लिए तब इंस्पायर हुए जब उन्होंने एक निहत्थे अफ्रीकी-अमेरिकी टीनऐजर माइकल ब्राउन जूनियर की हत्या होते देखी। साल 2014 में एक वाइट पुलिस अधिकारी द्वारा फर्ग्यूसन में उस बच्चे को शूट कर दिया गया था। ये घटना वहां हुई थी यहां फ्रैंक्स रहते थे। वहीं भारत के मशहूर शेफ विकास खन्ना की पहली ही फिल्म ‘द लास्ट कलर’ ऑस्कर पुरस्कार की फीचर फिल्म की सूची में जगह बनाई है। इस फिल्म में अभिनेत्री नीना गुप्ता ने मुख्य किरदार निभाया है। यह फिल्म वृंदावन और वाराणसी में रहने वाली विधवाओं की जिंदगी पर आधारित है।

Related Articles