दक्षिण अफ्रीका में भारतीय मूल की लड़की की गोली मारकर हत्या

जोहान्सबर्ग। दक्षिण अफ्रीका में कुछ बंदूकधारियों ने एक कार का अपहरण करने के प्रयास के दौरान भारतीय मूल की एक नौ वर्षीय लड़की की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद भारतीय मूल के लोगों ने डरबन में विरोध प्रदर्शन किया। रिपोर्ट के अनुसार, भारतवंशियों की बस्ती चैट्सवर्थ निवासी कक्षा चार में पढ़ने वाली सादिया सुखराज अपने पिता शैलेंद्र के साथ सोमवार को जब अपने दादा-दादी के घर से लौट रही थी तभी तीन बंदूकधारियों ने उनकी कार को रोक लिया।

आरोप है कि बंदूकधारियों ने लड़की के पिता को कार से बाहर फेंक दिया और बच्ची सहित कार को ले गए। बच्ची के पिता ने अपहरणकर्ताओं का पीछा किया और इस दौरान उन्होंने और अपहरणकर्ताओं ने एक दूसरे पर गोली चलाई। इसी दौरान अपहरणकर्ताओं का वाहन एक ट्रक से टकरा गया और उनका नियंत्रण वाहन से हट गया। कुछ समय बाद गोली लगने से बुरी तरह घायल लड़की मिली जबकि एक अपहरणकर्ता को पुलिस अधिकारी ने गिरफ्तार कर लिया जबकि एक अन्य अपहरणकर्ता की मौत हो गई। लड़की को अस्पताल भेजा गया जहां उसकी मौत हो गई। तीसरा अपहरणकर्ता भागने में सफल रहा।

चैट्सवर्थ कम्युनिटी पुलिसिंग फोरम के अध्यक्ष जैक्स सिंह ने कहा, “लड़की के पिता ने अपहृत वाहन का पीछा किया और उसके बाद गोलीबारी भी हुई, तो हमें स्पष्ट रूप से यह नहीं पता है कि बच्ची को गोली कैसे लगी और किसने मारी।” घटना के बाद समुदाय के सैकड़ों आक्रोशित सदस्य चैट्सवर्थ पुलिस स्टेशन के बाद इकट्ठे होकर प्रशासन से तत्काल कार्रवाई की मांग करने लगे। पुलिस ने उन्हें खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। निवासियों का कहना है कि इलाके में अपहरण और लूट की घटनाएं बहुत तेजी से बढ़ी हैं। उनका कहना है कि वे सिर्फ इतना ही चाह रहे हैं कि पुलिस अपना काम ठीक से करे।बच्ची की मौत की खबर फैलने के बाद सोशल मीडिया पर उसे बड़ी संख्या में लोगों ने श्रद्धांजलि दी।

Related Articles