भारतीय रेलवे ने रचा एक इतिहास,100 फीसद ट्रेनें समय पर पहुची बढ़ेगी रफ्तार

नई दिल्ली भारतीय रेलवे ने एक नया रिकॉर्ड बनाया है। एक समय अपनी लेटलतीफी के लिए मशहूर भारतीय रेलवे की ट्रेनें अपने निर्धारित समय से चल रही हैं। इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि रेलवे की 100 फीसद ट्रेनें समय पर अपने गंतव्य तक पहुंचीं। रेलवे द्वारा 1 जुलाई को चलाई गई सभी 201 ट्रेनें निर्धारित समय पर अपने गंतव्य पहुंचीं। इससे पहले एक ट्रेन के देरी से चलने के कारण 23 जून को भारतीय रेलवे की पंक्चुएलिटी दर 99.54 फीसद थी। इसके साथ ही भारतीय रेलवे अपनी ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने पर भी जोर दे रहा है। दिल्ली से मुंबई और दिल्ली से हावड़ा तक दो मार्गों पर 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पर ट्रेनों को चलाने की तैयारी हो रही है। इसका मकसद कम समय में तेजी से यात्रियों की आवाजाही सुनिश्चित करना है।इस मुद्दे पर बात करते हुए रेलवे बोर्ड प्रदीप कुमार ने कहा कि दिल्ली-हावड़ा और दिल्ली-मुंबई मार्ग लगभग तैयार हो चुका है। इस मार्ग पर ट्रेनें 130 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती हैं।

इस वित्तीय वर्ष में दोनों मार्गों पर इस गति से ट्रेनें चलने की उम्मीद है।कुमार ने बताया कि भारतीय रेलवे भविष्य में 160 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से ट्रेनें चलाएगी। इसके लिए सभी परियोजनाओं पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले कुछ वर्षों से रेलवे द्वारा ट्रेनों की गति में सुधार के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है। हम तकनीकी रूप से सभी ट्रैक, सिग्नल, कोच इत्यादि को अपग्रेड कर रहे हैं।उल्लेखनीय है कि राजधानी और शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों की गति कई मार्गों पर बढ़ा दी गई है। साथ ही वंदे भारत जैसी सेमी-हाई स्पीड ट्रेनें भी रेलवे द्वारा संचालित की जा रही हैं। ऐसी स्थिति में यह उम्मीद की जा सकती है कि आने वाले समय में सेमी-हाई स्पीड ट्रेनों की संख्या में वृद्धि होगी और कुछ नए रूट भी इन ट्रेनों के साथ काम करने के लिए तैयार होंगे।

Related Articles