19 मई से 7 उड़ानों के जरिए अमेरिका से स्वदेश लौटेंगे भारतीय

भारत 19 मई को संयुक्त राज्य अमेरिका से ‘वंदे भारत मिशन’ के दूसरे चरण की शुरुआत करेने जा रहा है। इसके तहत एयर इंडिया संयुक्त राज्य से भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए 7 उड़ानों का संचालन करेगा। ये उड़ाने सैन फ्रांसिस्को, वाशिंगटन डीसी, शिकागो और न्यूयॉर्क से उड़ान भरेंगी।

कुल 7 उड़ानें दूसरे चरण के ब्रेक डाउन का हिस्सा होंगी। इस दौरान सैन फ्रांसिस्को से दो उड़ानें रवाना होंगी, एक वाशिंगटन डीसी से, दो शिकागो से और दो न्यूयॉर्क से भारतीय नागरिकों को लेकर रवाना होंगी। फिलहाल जारी वंदे भारत मिशन के पहले चरण के तहत, 1200 भारतीय एयर इंडिया द्वारा संचालित 7 उड़ानों के जरिए वापस भारत लाए जाएंगे। संयुक्त राज्य में मिशन की शुरुआत 9 मई को सैन फ्रान्सिस्को से हुई थी।

दूसरे चरण के बाद एयर इंडिया की कमर्शियल उड़ानों को भारतीय बंदरगाहों पर उतरने की अनुमति दी जा सकती है। अधिकारियों ने एएनआई से कहा कि दूसरे चरण के बाद कमर्शियल उड़ानों को फिर से खोलना पड़ सकता है।

‘वंदे भारत मिशन’ का दूसरा चरण 16 मई से 22 मई तक चलेगा। इस दौरान 31 देशों से भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए फीडर फ्लाइट सहित 149 उड़ानें संचालित की जाएंगी। इसमें केरल के लिए 31, दिल्ली के लिए 22, कर्नाटक के लिए 17, तेलंगाना के लिए 16, गुजरात के लिए 14, राजस्थान के लिए 12, आंध्र प्रदेश के लिए नौ, पंजाब के लिए सात, बिहार और उत्तर प्रदेश के लिए छह-छह, ओडिशा के लिए तीन, चंडीगढ़ के लिए दो, और जम्मू-कश्मीर, जयपुर, मुंबई और मध्य प्रदेश के लिए एक-एक उड़ानें नागरिकों को लेकर स्वेदेश पहुंचेंगी।

इस चरण में संयुक्त अरब अमीरात, ओमान, सऊदी अरब, कुवैत, रूस, बहरीन, आयरलैंड, इटली, जापान, फ्रांस, ताजिकिस्तान, इंडोनेशिया, इटली, आस्ट्रेलिया, यूक्रेन, अमेरिका, ब्रिटेन, मलेशिया, अर्मेनिया, फिलीपींस, किर्गिस्तान से भारतीयों को स्वदेश लाया जाएगा। मालूम हो कि कोरोना वायरस से जुड़े प्रतिबंधों की वजह से विभिन्न देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए भारत सरकार ने सात मई को वंदे भारत मिशन की शुरुआत की थी। मिशन के पहले चरण में सरकार ने खाड़ी देशों के साथ-साथ अमेरिका, ब्रिटेन, फिलीपींस, बांग्लादेश, मलेशिया और मालदीव जैसे देशों में फंसे 6,527 भारतीय को निकाला है।

Related Articles