तालिबान की हुकूमत के बीच भारत का बड़ा फैसला, काबुल में नहीं बंद करेंगे दूतावास

नई दिल्ली/काबुल: अफगानिस्तान पर अब तालिबान के राज चलने लगा है और वहां के लोगो का बुरा हाल हो चुका है। अभी वहां पर उप राष्ट्रपति और तालिबानी नेताओं के बीच बातचीत का दौर चल रहा है। वहीं खबर आ रही है कि भारत काबुल स्थिति अपने दूतावास को बंद नहीं करेगा क्योंकि अभी भी 16 सौ से ज्यादा लोगों ने आवेदन किया है।

काबुल में भारत दुतावास नहीं होगा बंद

खबरों के मुताबिक, भारत सरकार की तरफ से बताया गया है कि 1650 से ज्यादा लोगों ने अफगानिस्तान से भारत लौटने के लिए अपना आवेदन दिया है। इसलिए काबुल में भारत के दूतावास को बंद नहीं कर सकते है। इस मसले को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि काबुल से भारत के लिए भारतीय राजदूत और दूतावास के कर्मचारियों की आवाजाही एक कठिन और जटिल अभ्यास था। उन सभी का धन्यवाद जिनके सहयोग और सुविधा ने इसे संभव बनाया।

एक और विमान भेजने की सरकार की तैयारी

आपको बता दें कि भारत सरकार काबुल में फंसे अपने देश के नागरिकों को वहां से सुरक्षित निकालने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। अधिक से अधिक लोगों की शीघ्र वापसी सुनिश्चित करने के लिए एक विमान भेजने का विचार किया जा रहा है। भारतीय विमान को स्टैंड बाई मोड में वहीं खड़ा किया गया है। जैसे ही अमेरिका के नियंत्रण वाले काबुल एयरपोर्ट को खाली कराया जाएगा। वहां पर भारतीय विमान पहुंच जाएगा।

Related Articles