भारत की बेटी ने तोड़ा ब्‍लू व्‍हेल का तिलिस्‍म, नहीं होगी कोई मौत

0

भोपाल। रूस में बना इंटरनेट गेम भारत में ही नहीं कई अन्‍य देशों के बच्‍चों की जान ले चुका है। लेकिन इस खतरनाम समस्या से छुटकारा पाने के लिए भारत के मध्‍य प्रदेश की एक बेटी की मेहनत रंग लाई। भोपाल की ख्‍ायाली चक्रवर्ती ने सुसाइड के लिए प्रेरित करने वाले वीडियो गेम्स के विरोध में वीडियो बनाया है, जिसमें बताया गया कि ब्‍लू व्‍हेल गेम से कैसे बचा जा सकता है। यह वीडियो कितना सफल होगा इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है, कि महज 10 दिनों में ही इसको करीब डेढ़ करोड़ लोगों ने इसे देखा और पंसद किया। पसंद करने के साथ शेयर भी किया।

खयाली ने बीए की डिग्री सायकोलॉजी में किया है। और फिलहाल दिल्ली की एक कंपनी में जॉब कर रही हैं। नौकरी के साथ वो एक लेखक की भूमिका में भी रहती है। ब्लू व्हेल को लेकर हो रही लगातार घटनाओं के बाद उन्होंने इसके विरोध में 2.30 मिनट का वीडियो बनाया। जो बहुत ही हिट हो रहा। खासकर अभिभावकों के बीच में। इसके लिए बाकायदा ख्‍ायाली को अभिभावकों से बधाई संदेश भी मिल रहे है।इस वीडियों के बनाने पर ख्‍याली कहती हैं कि, उनकों सायकोलॉजी स्टूडेंट होने का फायदा मिला।

उनके मुताबिक इस क्षेत्र में बच्चों की मनोस्थिति को जान सकीं। इसके अलावा खयाली ने पैरेंट्स का बच्चों पर प्रभाव, वीडियो गेम के प्रति बच्चों का लगाव या एडिक्ट होना, डिप्रेशन में जाने के कारण सहित कई बिन्दुओं पर रिसर्च की और फिर उसे इस वीडियों का हिस्‍सा बनाया। वहीं खयाली की बात करें तो वो बचपन से ही कुछ अलग-अलग विषयों पर वीडियो बनाने का शौक रख्‍ाती रही है। वे अब तक अन्‍य-अन्‍य विषयों पर 11 वीडियो बना चुकी है। लेकिन सबसे ज्‍यादा ब्‍लू व्‍हेल पर बना वीडियों लोगों के बीच पैठ बनाने में सफल हो रहा है।

यह भी पढ़़े- खुल गया दुनिया का सबसे पहला बीयर स्वीमिंग पूल, अब ले शराब में नहाने का मजा

loading...
शेयर करें