भारत की हिमा दास ने रचा इतिहास, जीता स्वर्ण पदक

0

फिनलैंड। भारत ने आईएएएफ ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीत लिया है। यह कारनामा भारत की हिमा दास ने गुरुवार को फिनलैंड के टेम्पेरे में जारी आईएएफ वर्ल्ड अंडर-20 चैंपियनशिप में कर दिखाया है। हिमा दास ने महिलाओं की 400 मीटर स्पर्धा में सिर्फ स्वर्ण ही नहीं जीता है बल्कि इसे जीतकर इतिहास के पन्नो पर अपना नाम भी दर्ज करा लिया है।

इतना ही नहीं हिमा दास ने इस उपलब्धि के साथ उस सूखे को भी खत्म कर दिया जो भारत के मिल्खा सिंह और पीटी उषा भी नहीं कर पाए। हिमा दास से पहले भारत की तरफ से कोई भी महिला या पुरुष खिलाड़ी जूनियर या सीनियर किसी भी स्तर पर विश्व चैम्पियनशिप में गोल्ड या कोई मेडल नहीं जीत सका था।

आपको बता दे, हिमा दास से पहले सबसे अच्छा प्रदर्शन मिल्खा सिंह और पीटी उषा का रहा था। पीटी उषा ने जहां 1984 ओलंपिक में 400 मीटर हर्डल रेस में चौथा स्थान हासिल किया था। मिल्खा सिंह 1960 रोम ओलंपिक में 400 मीटर रेस में चौथे स्थान पर रहे थे। इन दोनों के अलावा कोई भी खिलाड़ी ट्रैक इवेंट में मेडल के करीब नहीं पहुंच सका।

हिमा ने राटिना स्टेडियम में खेले गए फाइनल में 51.46 सेकेंड में जीत हासिल की। इसी के साथ वह इस चैंपियनशिप में सभी आयु वर्गो में स्वर्ण जीतने वाली भारत की पहली महिला बन गई हैं।

 

loading...
शेयर करें