भारत बेमिसाल, बनाई नई मिसाइल, ‘आकाश प्राइम’ का सफलतापूर्वक परीक्षण, देखें वीडियो

नई दिल्ली: भारत के रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने सोमवार को स्वदेशी रूप से विकसित आकाश मिसाइल के एक नए संस्करण का सफल परीक्षण किया है। ‘आकाश प्राइम’ नाम की नई मिसाइल का परीक्षण ओडिशा के चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण रेंज (ITR) में किया गया।

DRDO के बयान के अनुसार, इसमे सुधार के बाद यह आकाश प्राइम मिसाइल का पहला उड़ान परीक्षण किया गया था। परीक्षण में देखा कि यह एक मानव रहित हवाई लक्ष्य को बाधित और नष्ट कर देता है जो दुश्मन के विमान की नकल करता है।

DRDO ने साझा किया परीक्षण का वीडियो

आकाश प्राइम आकाश मिसाइल प्रणाली का उन्नत संस्करण है। इसमें अब एक घरेलू रेडियो फ्रीक्वेंसी (आरएफ) साधक की सुविधा है जो विभिन्न मौसम स्थितियों में लक्ष्य को बाधित करने का प्रयास करते समय इसे बढ़ी हुई सटीकता प्रदान करता है। नई संवर्द्धन आकाश प्राइम को भारत के उत्तरी और उत्तरपूर्वी मोर्चों जैसे उच्च ऊंचाई वाले परिचालन क्षेत्रों में कम तापमान वाले वातावरण में सक्षम बनाती है।

DRDO ने कही ये बात

DRDO ने अपने बयान में कहा है, ”मौजूदा आकाश हथियार प्रणाली के संशोधित ग्राउंड सिस्टम का इस्तेमाल मौजूदा उड़ान परीक्षण के लिए किया गया है। रडार, ईओटीएस और टेलीमेट्री स्टेशनों से युक्त आईटीआर के रेंज स्टेशनों ने मिसाइल प्रक्षेपवक्र और उड़ान मापदंडों की निगरानी की।

रक्षा मंत्री ने दी बधाई

आकाश प्राइम मिसाइल के सफल उड़ान परीक्षण के अवसर पर रक्षा बलों को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और डीआरडीओ के अध्यक्ष डॉ जी सतीश रेड्डी से बधाई संदेश मिले। रक्षा मंत्री सिंह ने कहा कि परीक्षण की सफलता “विश्व स्तरीय मिसाइल प्रणालियों” के विकास, डिजाइन और उत्पादन में डीआरडीओ की क्षमता का प्रमाण है।

Related Articles