भारत-पाक वीजा मुक्त यात्रा पर सहमत, सेवा शुल्क पर मतभेद

0

भारत और पाकिस्तान ने बुधवार को करतारपुर गलियारे को लेकर गुरद्वारा दरबार साहिब में होने वाली भारतीय श्रद्धालुओं की यात्रा को मुक्त कराने पर सहमति जताई है लेकिन सीमा के दोनों ओर जाने वाले मार्ग को पर समझौते को अंतिम रूप नहीं दिया जा सका.

आपको आपको बता दें कि पाकिस्तान के इस गलियारे में हर दिन 5000 श्रद्धालुओं को गुरुद्वारे आने की इजाजत देने की बात बताई जा रही है और विशेष मौकों पर इस संख्या को धीरे धीरे बढ़ाया या उसके हिसाब से तय किए जाने की बात भी अधिकारियों द्वारा कही गई है.

पाकिस्तान और भारत के बीच हुई बैठक के बाद अधिकारियों ने बताया है कि दोनों देश गलियारे पर मसौदा समझौते को अंतिम रूप नहीं दे पाए हैं क्योंकि पाकिस्तान भारतीय श्रद्धालुओं से सेवा शुल्क लेने और फोटो को और अधिकारियों को उनके साथ आने की इजाजत नहीं देने पर अड़ा रहा है.

इसके अलावा आपको बता दें कि गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव एस सी एल दास ने कहा है कि पाकिस्तान के लगातार अड़ियल रवैए को लेकर इसी की वजह से आज समझौते को अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है और दास ने भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व भी किया था.

पाकिस्तानी दल का नेतृत्व करने वाले मोहम्मद फैजल ने यह भी कहा कि भारत को थोड़ा सा लचीला रुख अपनाना होगा उन्होंने कहा कि मौजूदा समझौते के संदर्भ में दो या तीन बिंदुओं पर भी सहमति बनाना शेष है और इसके अलावा अन्य बिंदुओं पर आम सहमति बनी है.

अधिकारियों ने बताया है कि दोनों पक्षों के लिए बिना किसी प्रतिबंध के भारतीय श्रद्धालुओं को पाकिस्तान के गुरुद्वारा दरबार साहिब तक वीजा मुफ्त यात्रा कराने के लिए भी सहमति हो गई है.

loading...
शेयर करें