उद्योगपति रतन टाटा बोले ‘मुंबई के लोगों की एकता और धैर्य बेमिसाल’

मुंबई आतंकवादी हमले की 12 वीं बरसी पर रतन टाटा बोले ‘मुंबई के लोगों की एकता और धैर्य बेमिसाल’

मुंबई: उद्योगपति एवं टाटा संस समूह के एमिरेट्स चैयरमेन रतन टाटा ने मुंबई आतंकवादी हमले की 12 वीं बरसी पर कहा कि वाणिज्यिक नगरी में रहने वाले विविध तरह के लोगों ने उस संकट के समय सभी मतभेदों को दरकिनार करके जिस भावना और धैर्य का परिचय दिया था।

निशाने पर टाटा का ताज होटल

छब्बीस नवंबर 2012 को मुंबई हमले का मुख्य निशाना टाटा समूह का ताज होटल था। इस हमले में 150 से अधिक लोग मारे गये थे और 300 से अधिक घायल हुए थे। रतन टाटा ने हमले की 12 वीं बरसी पर इंस्टाग्राम पर एक बहुत ही भावुक पोस्ट लिखी जिसे उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर भी साझा किया है। पोस्ट के साथ टाटा ने होटल ताज की तस्वीर भी साझा की है।

रतन हुए भावुक टाटा

रतन टाटा ने लिखा, ” 12 वर्ष पहले आज के दिन जो भारी विनाश हुआ था, उसे भुलाया नहीं जा सकता। लेकिन इससे भी ज्यादा यह स्मरण करने की बात यह है कि उस दिन किस तरह से विविध तरह के लोगों ने वाली मुंबई में एकजुट होकर और अपने सभी मतभेदों को भुलाकर आतंकवाद तथा विनाश से मुकाबला किया था। वह सराहनीय है तथा हमें अपनी एकता को संभालकर रखने की जरूरत है।”

बहादुर लोगों के सम्मान में शोक

रतन टाटा ने कहा,”आज हमें निश्चित रूप से उन बहादुर लोगों के सम्मान में शोक मनाना चाहिए जिन्होंने दुश्मन से मुकाबले में अपना जीवन न्यौछावर कर दिया, किंतु हमें इस बात की सराहना भी करनी चाहिए कि हमने किस तरह से एकता, दया और संवेदनशीलता का परिचय दिया था और हमें आशा है कि आने वाले वर्षों में भी हम इसे बरकरार रखेंगे।”

यह भी पढ़े:किसानों पर छोड़े गए आंसू गैस के गोले, प्रियंका ने भाजपा पर साधा निशाना

यह भी पढ़े:देश में कोरोना नमूनों की जांच का आंकड़ा साढ़े तेरह करोड़ के पार, बड़े स्तर पर फैलाव की रोकथाम

Related Articles