Infosys 14 अप्रैल से शुरू करेगी शेयर बायबैक की प्रक्रिया, जानिए अपडेट ?

भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड नियमन, 2018 के अनुरूप कंपनी का निदेशक मंडल 14 अप्रैल, 2021 को होने वाली अपनी बैठक में पूर्ण रूप से चुकता शेयर पूंजी के पुनर्खरीद के लिये प्रस्ताव पर विचार करेगा।

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी आईटी ( IT ) कंपनियों में से एक IT सेवा कंपनी इन्फोसिस ( Infosys ) ने रविवार को कहा कि उसका निदेशक मंडल 14 अप्रैल को शेयर पुनर्खरीद प्रस्ताव पर विचार करेगा। इन्फोसिस ( Infosys ) ने शेयर बाजार को दी गई सूचना में कहा, ‘‘भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड ( Securities and Exchange Board of India ) नियमन, 2018 के अनुरूप कंपनी का निदेशक मंडल 14 अप्रैल, 2021 को होने वाली अपनी बैठक में पूर्ण रूप से चुकता शेयर पूंजी के पुनर्खरीद के लिये प्रस्ताव पर विचार करेगा।

बेंगलुरु की कंपनी के निदेशक मंडल की बैठक 13-14 अप्रैल 2021 को होने जा रही है। और इसमें 31 मार्च 2021 को समाप्त तिमाही और वित्त वर्ष में कंपनी और उसकी अनुषंगी इकाइयों के वित्तीय परिणाम को मंजूरी और उसे रेकॉर्ड में लिया जाएगा। इससे पहले, इन्फोसिस ( Infosys ) ने अगस्त 2019 में 8,260 करोड़ रुपये मूल्य के 11.05 करोड़ शेयर की पुनर्खरीद की थी। कंपनी का पहला शेयर पुनर्खरीद दिसंबर 2017 में 13,000 करोड़ रुपये का मूल्य का था। इसमें कंपनी ने 1,150 रुपये प्रति इक्विटी के भाव पर 11.3 करोड़ शेयर की पुनर्खरीद की थी।

भारतीय आईटी कंपनियों को चौथी तिमाही और वित्तीय वर्ष वित्त वर्ष 2015 के वित्तीय सत्रों के लिए 12 अप्रैल से बंद कर दिया जाएगा। टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ( TCS ) अपने वित्तीय परिणाम पोस्ट करने वाली पहली कंपनी होगी। भारतीय आईटी कंपनियों को मार्च तिमाही के लिए शानदार प्रदर्शन की उम्मीद है। विशेषज्ञों का मानना ​​है कि पहले से साइन किए गए बड़े सौदों की रैंप-अप, ब्रॉड-आधारित विकास और क्लाउड ट्रांसफॉर्मेशन से टेलविंड्स को आईटी सेक्टर को एक और मजबूत तिमाही में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़े: जानिए चीफ इलेक्शन कमिश्नर सुनील अरोड़ा के बाद कौन होगा देश का नया चीफ Election कमिश्नर

Related Articles

Back to top button