INS कवराती आज नौसेना के बेड़े में होगा शामिल, युद्धपोत में 90 प्रतिशत चीजें स्वदेशी

इस युद्धपोत में इस्तेमाल की गयी 90 प्रतिशत चीजें स्वदेशी हैं। इसमें लगाये गये सेंसर और हथियार भी मुख्य रूप से स्वदेशी हैं और इस क्षेत्र में देश की बढती क्षमता के द्योतक हैं।

नई दिल्ली: सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे बारूदी सुरंग रोधी प्रणाली से लैस स्वदेशी स्टील्थ युद्धपोत INS कवराती को गुरूवार को नौसेना के बेड़े में शामिल करेंगे। यह युद्धपोत प्रोजेक्ट 28 (कार्मोता श्रेणी) के तहत बनाया गया है।

युद्धपोत का डिजायन नौसेना के डिजायन महानिदेशालय ने तैयार की है और इसे गार्डन रिच शिपबिल्डर एंड इंजीनियर्स ने बनाया है।

INS कवराती अत्‍याधुनिक सेंसर और हथियारों से लैस

यह युद्धपोत नौसेना और इसे बनाने वाली कंपनी की देश को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में बढती क्षमता का प्रतीक है । इस युद्धपोत में इस्तेमाल की गयी 90 प्रतिशत चीजें स्वदेशी हैं। इसमें लगाये गये सेंसर और हथियार भी मुख्य रूप से स्वदेशी हैं और इस क्षेत्र में देश की बढती क्षमता के द्योतक हैं। यह युद्धपोत समुद्र में समुद्री सुरंगों का पता लगाने और उन्हें निष्क्रय करने में सक्षम है। INS कवराती के शामिल होने से भारत की समुद्री ताकत को बढ़ावा मिलेगा।

ये भी पढ़ें : ललितपुर: चार बच्चों की हत्या मामले में CM योगी दुखी, प्रशासन को दिए आदेश

 

Related Articles

Back to top button