भ्रष्ट पुलिसवालों के खिलाफ DGP की बड़ी कार्रवाई, गौतमबुद्धनगर में इंस्पेक्टर और SSI सस्पेंड

लखनऊ। उत्तर प्रदेश पुलिस प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए भ्रष्टाचार के आरोप में गौतमबुद्ध नगर में कई पुलिसकर्मियों को निलंबित किया है। यह कार्रवाई डीजीपी ओपी सिंह के निर्देश के बाद की गई। जिन पुलिस वालों को निलंबित किया है उनमे नोएडा सेक्टर-58 के इंस्पेक्टर अनिल प्रताप सिंह और एसएसआई राजेश कुमार सिंह शामिल हैं।

डीजीपी ओपी सिंह

सेक्टर-58 थाने में निलंबित किए गए लगभग एक दर्जन पुलिसकर्मियों के खिलाफ कई मामलों में एफआईआर भी दर्ज की गई है। इन सभी के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत मिली थी, जिसके बाद ये कार्रवाई हुई है। साथ डीजीपी ओपी सिंह ने सख्त हिदायत दी है कि आगे भी अगर किसी के खिलाफ ऐसी शिकायत मिलती है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

जानकारी के मुताबिक, निलाम्बिर्ट पुलिस अधिकारीयों पर कॉल सेंटर संचालक से 18 लाख की रिश्वत लेने के आरोप है। इसके बाद एसएसपी गौतमबुद्ध नगर डॉ। अजय पाल शर्मा ने कोतवाली सेक्टर-58 प्रभारी निरीक्षक अनिल प्रताप सिंह और एसएसआई राजेश कुमार को निलंबित कर दिया है। कॉल सेंटर संचालक की शिकायत पर कोतवाल, एसएसआई और 10-12 अज्ञात पुलिसकर्मियों के खिलाफ कोतवाली सेक्टर-58 में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

आपको बता दें कि इससे पहले मार्च में गाजीपुर मे बुजुर्ग से बदसलूकी करने वाले इंस्पेक्टर अरूण कुमार राय और झांसी के थाना मऊरानीपुर के प्रभारी रहे दागी निरीक्षक सुनीत कुमार सिंह को भी निलंबित किया गया था।

Related Articles