यूपी विश्वविद्यालयों की DPR को तत्काल तैयार करने के निर्देश, धान क्रय केंद्रों की समीक्षा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश विश्वविद्यालयों की DPR को तत्काल तैयार करने के दिए निर्देश, धान क्रय केंद्रों की समीक्षा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोक निर्माण विभाग को सहारनपुर, अलीगढ़ और आजमगढ़ के राज्य विश्वविद्यालयों, आयुष विश्वविद्यालय गोरखपुर, अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय लखनऊ की डीपीआर तत्काल तैयार करने के निर्देश दिए हैं।

धान क्रय केंद्रों की समीक्षा

मुख्यमंत्री ने कहा कि ये सभी परियोजनाएं जन महत्व की हैं, इसलिए इनमें कतई विलम्ब नहीं होना चाहिए। सरकारी धन का सदुपयोग किया जाए। इसका दुरुपयोग करने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए। योगी आदित्यनाथ ने एक उच्चस्तरीय बैठक में कृषि उत्पादन आयुक्त को धान क्रय केंद्रों की समीक्षा के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ऐसी शिकायतें मिली हैं कि कुछ लोग गड़बड़ी करने की फिराक में हैं। इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि किसानों के हितों के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा।

स्मार्ट सिटी और अमृत योजना

मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास प्राधिकरणों के कार्यों की समीक्षा की जाए। इनकी कार्यप्रणाली में सुधार की जरूरत है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्री के साथ शीघ्र ही प्रदेश की स्मार्ट सिटी और अमृत योजनाओं के तहत कराए जा रहे कार्यों की समीक्षा की जाए। यह कार्य जनहित से जुड़े हैं, इनकी सतत निगरानी की जाए, इन्हें पूरी प्राथमिकता दी जाए।

कैलास मानसरोवर भवन

मुख्यमंत्री ने अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा को निर्देश दिए कि बेसिक शिक्षकों के अंतर्जनपदीय स्थानांतरण की प्रक्रिया शीघ्र पूरी की जाए। उन्होंने कहा कि जो भी गतिरोध थे, अब समाप्त हो चुके हैं। यह युवाओं की सुविधा का विषय है, इसमें तत्परता बरती जाए। उन्होंने कहा कि कैलास मानसरोवर भवन बनने से तीर्थ यात्रा पर जाने वाले यात्रियों को काफी सुविधा होगी, इससे पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।

बैठक में अधिकारी

बैठक में चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, स्वास्थ्य राज्य मंत्री अतुल गर्ग, मुख्य सचिव आरके तिवारी, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश सी अवस्थी, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई तथा सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आलोक कुमार, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा रजनीश दुबे, प्रमुख सचिव लोक निर्माण नितिन रमेश गोगर्ण, प्रमुख सचिव आवास दीपक कुमार, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

यह भी पढ़ेUttar Pradesh Investment and Tourism: ‘एक ट्रिलियन डालर इकोनामी बनाने में मदद’

यह भी पढ़ेTMC ने शुरू किया ‘द्वारे सरकार’ अभियान, आम लोगों में दिखा उत्साह

Related Articles

Back to top button