IPL
IPL

Home Loan पर Interest घटेगा या बढ़ेगा इस दिन आएगा फैसला, MPC की बैठक शुरू

मुंबई: Home Loan का Interest Rate घटेगा या बढ़ेगा इसे लेकर Monetary Policy Committee की बैठक आज शुरू हो रही है। ऐसे में ब्याज दरों के घटने के आसार कम हैं चूँकि अनुमान ये है कि कोरोना महामारी के चलते केंद्र सरकार ने Retail महंगाई दर 4 Percent बरकरार रखने का फैसला किया है, ऐसे में RBI Home Loan का इंट्रेस्ट रेट कुछ ज्यादा बदलाव नहीं करेगा। Monetary Policy Committee अपना रुख इसके लिए उदार रख सकता है। 7 अप्रैल यानी बुधवार को ब्याज दरों पर RBI अपना फैसला सुनाएगा।

आज से ब्याज दरों पर RBI की बैठक

जानकारों के मुताबिक RBI की MPC बैठक में समिति अपना रुख उदार बरकरार रख सकती है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि RBI अपने Retail Inflation rate को 4 Percent को अपना मुख्य लक्ष्य बनाकर रखने का फैसला कर चुका है। कोरोना महामारी में इस फैसले के साथ कोई छेड़छाड़ RBI नहीं करेगा और सही मौके का इंतज़ार करेगा।

Edelweiss Research के मुताबिक आर्थिक रिकवरी की रफ्तार सुस्त

इस समय Policy Repo Rate 4%, Reverse Repo 3.35% है। आने वाली Monetary Policy को लेकर एडलवाइस रिसर्च का कहना है Economic Recovery एकसमानता नहीं है और अच्छी वापसी के बाद निचले स्तरों से सुधार की रफ्तार भी घटी है। एडलवाइस रिसर्च के मुताबिक इस monetary पॉलिसी में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं होगा और रुख भी ‘Accommodative’ रहेगा। चूँकि कोरोना के एक बार फिर तेजी से बढ़ते मामलों ने नई चुनौती खड़ी कर दी है।

Accommodative रुख रखने से मौद्रिक नीति Monetary Policy पर क्या फ़र्क़ पड़ेगा ?

उदार या Accommodative रुख रखने से RBI Monetary Policy में मुख्य Interest Rates को घटाता है। इससे Economy में Cash का फ्लो बढ़ने का रास्ता खुल जाता है। Market में Cash बढ़ने से आर्थिक गतिविधियां बढ़ जाती हैं। RBI हर दूसरे महीने Monetary Policy की समीक्षा करता है। इस पर अर्थव्यवस्था से जुड़े पक्षों की करीबी नजर होती है। इसमें अर्थव्यवस्था की स्थिति को देखते Interest Rate घटाने या बढ़ाने का फैसला किया जाता है। यह फैसला RBI की Monetary Policy Committee (MPC) लेती है। इसका देश की Economy पर व्यापक असर पड़ता है।

ये भी पढ़ें : बाज़ार पर कोरोना का सांया, Sensex 1400 अंक से ज्यादा टूटा, Nifty 14500 के नीचे फिसला

Related Articles

Back to top button