पति के साथ संगम पहुंचीं अंतरराष्ट्रीय बैडमिंटन खिलाड़ी Saina Nehwal, नौकायन कराने वाली टीम के साथ ली सेल्फी

ओलंपिक पदक विजेता और बैडमिंटन के खेल में देश नाम पूरे विश्व में रोशन करने वाली अंतरराष्ट्रीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल (Saina Nehwal) इलाहावाद के संगम नगरी में पहुंची।

नई दिल्ली: ओलंपिक पदक विजेता और बैडमिंटन के खेल में देश नाम पूरे विश्व में रोशन करने वाली अंतरराष्ट्रीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल (Saina Nehwal) इलाहावाद के संगम नगरी में पहुंची। उन्होनें अपने पति के साथ त्रिवेणी संगम की सविधि मंत्रोच्चार के साथ विधि-विधान से पूजा की। इसके बाद उन्होंने नौका विहार के साथ ही अक्षयवट और मनकामेश्वर मंदिर का बाहर से दर्शन भी किया।

Saina Nehwal ने यमुना के धार से अक्षयवट को देखा

साइना अपने पति पारुपल्ली कश्यप के साथ कार से संगम पहुंचीं। वहां उन्होंने सबसे पहले गंगाजल से आचमन किया। इसके बाद गंगा, यमुना और विलुप्त सरस्वती के तट पर पूजा-अर्चना की। मां गंगा को मत्रोच्चार के बीच अपनी मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए नारियल-चुनरी चढ़ाई। साइना नेहवाल ने विधि-विधान से पूजा अर्चना के बाद मां गंगा की आरती भी उतारी। इसके बाद वह नौका विहार के लिए निकल पड़ीं।

यह भी पढ़ें: चुनावी रैली में इमरान ने कश्मीर मुद्दे पर छेड़ी राग, पाकिस्तान में शामिल होना है या…

यह भी पढ़ें: देश का देखें बुरा हाल, बांस और कपड़े के झोली में डालकर गर्भवती को ले गए अस्पताल

साइना ने करीब आधे घंटे तक संगम में नौका विहार किया। उन्होंने पति के यमुना की जलधारा से ही अक्षयवट को देखा और फिर प्रणाम कर आगे बढ़ गईं। वह सरस्वती घाट पहुंचीं। वहां उन्होंने मनकामेश्वर महादेव का दूर से ही दर्शन किया। इसके बाद नाव से ही वापस संगम आ गईं। साइना करीब घंटे भर संगम पर रहीं। इसके बाद अपने पति के साथ निकल गईं। हालांकि वो मास्क पहने हुई थी। इसलिए आम आदमी उनको पहचान नहीं पाया। केवल पंडित और नौका विहार कराने वालों को ही पता था कि साइना नेहवाल हैं। उनका प्रयागराज दौरा काफी गोपनीय रहा। उनके साथ न पुलिस की सुरक्षा थी और न ही कोई तामझाम।

Related Articles