मसूरी इंटरनेशनल स्कूल में बच्चों से रैगिंग और यौन शोषण के मामले में होगी कड़ी जांच, जल्द ही पेश करनी होगी रिपोर्ट

नैनीताल। उत्तराखंड में रैगिंग को लेकर एक मामला प्रकाश में आया है। यह मामला मसूरी इंटरनेशनल स्कूल में छात्राओं की रैगिंग और यौन शोषण संबंध में है। इस स्कूल में पढ़ने वाली कुछ छात्राओं के अभिभावकों ने पिछले दिनों रैगिंग, यौन शोषण और अन्य अव्यवस्थाओं की शिकायत उत्तराखंड बाल अधिकार संरक्षण आयोग से की थी, जिसके बाद इस मामले में जांच भी शुरू की गई थी, लेकिन अब यह मामला काफी गंभीर हो चुका है।

अब इन मामलों में आई  शिकायतों की दो स्तर पर जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस मुख्यालय ने सीओ डालनवाला को जांच अधिकारी बनाया है। दूसरी जांच, शिक्षा विभाग कर रहा है। आपको बताते चले कि मसूरी इंटरनेशनल स्कूल में कुछ दिनो पहले कई चौका देने वाली बातें सामने आई थी, जैसे छात्रों से रैगिंग होना, कुछ छात्राओं के साथ रैगिंग के नाम पर समलैंगिक संबंध, स्कूल के बाथरूम में दरवाजे की जगह पर्दे टंगे होना। इन मामलों के सामने आने के बाद अब स्कूल पर कार्यवाही तेज हो गई है और इस मामले में कई टीमें जांच में लगाई गई है।

राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की नव नियुक्त अध्यक्ष ऊषा नेगी ने बताया कि मामला गंभीर है। इस पर पुलिस महानिदेशक और महानिदेशक शिक्षा से 15 दिन के भीतर रिपोर्ट मांगी गई है। रिपोर्ट के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Related Articles