Investor हुए किनारे, koo अब सेलेब्स के सहारे

बेंगलुरु : हाल ही में लांच हुए इंडियन ट्विटर Koo App को बड़ा झटका लगा है। कंपनी के मेजर Investor में से एक चाइनीज Investor शुनवेई कैपिटल ने कंपनी का साथ छोड़ दिया है। आप को बताते चलें की साल 2018 में शुनवेई ने कू की पैरेंट कपनी बॉम्बिनेट टेक में पांच मिलियन के करीब इन्वेस्ट किया था। लेकिन अब ये कू से बाहर हो गई है। कंपनी की कू में 9 % से ज़्यादा की हिस्सेदारी थी।

नये Investor हैं कई खास लोग

Koo के ऑफिशल्स ने हाल में दिए अपने बयान ने कहा कि शुनवेई कैपिटल की इस हिस्सेदारी को कंपनी के प्रमोटर्स के अलावा कुछ बिजनेसमैन और सेलिब्रिटीज ने खरीदा लिया है। जिन लोगों ने इस में हिस्सेदारी खरीदी है उनमें पूर्व क्रिकेट Javagal Srinath,  ब्रोकरेज फर्म Zerodha के को-फाउंडर निखिल कामत , BookMyShow के फाउंडर आशीष हेमराजानी, उड़ान के को-फाउंडर सुजीत कुमार और फ्लिपकार्ट के CEO कल्याण कृष्णमूर्ति खास हैं।

Koo के को-फाउंडर और सीईओ अप्रमेया राधाकृष्णा ने दिए अपने एक बयान में कहा कि करीब 2.5 साल पहले जब हम VOKAL के लिए फंड जुटा रहे थे तब चाइनीज कंपनी Shunwei  ने कू की पेरेंट कंपनी Bombinate Technologies में इन्वेस्ट किया था। लेकिन अब कंपनी अपनी हिस्सेदारी बेच कर कू से पूरी तरह एग्जिट कर गई है।

देसी होने की वजह से मिला जनता का प्यार

आपको बताते चलें कि माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर और सेंट्रल गवर्नमेंट के बीच हुए बवाल की वजह से कू तब सुर्ख़ियों में आया था जब कई कैबिनेट मिनिस्टर्स के साथ कई सेलिब्रिटीज ने भी इसके मेड इन इंडिया होने की वजह से कू पर अपना अकाउंट बनाया था। तब से लेकर अब तक करीब 45 लाख से ज़्यादा  लोग KOO को डाउनलोड कर चुके हैं। कंपनी को उम्मीद है कि 2022 से पहले उसके स्ब्सक्राइबर्स काउंट 10 करोड़ के आकड़े को क्रॉस कर चुका होगा।

Related Articles