भारत में आईफोन की बिक्री बन्द हो सकती है, वजह चौंकाने वाली!

0

गैजेट डेस्क: दिग्गज स्मार्टफोन निर्माता कंपनी एप्पल और टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) के बीच विवाद खड़ा हो गया है। यही नहीं विवाद न सुलझने की स्थित में भारत में आईफोन की बिक्री को रोका जा सकता है। दरअसल, एप्पल और ट्राई के बीच यह लड़ाई डीएनडी ऐप को लेकर शुरू हुई है। इस ऐप को ट्राई ने सभी मोबाइल कंपनियों को डीएनडी ऐप डाउनलोड करने का विकल्प देने का निर्देश दिया है। लेकिन एप्पल ने इससे इनकार कर दिया है। यही नहीं एप्पल इसको लेकर कानूनी लड़ाई लड़ने की तैयारी कर रहा है।

इस वजह से शुरू हुआ विवाद

दरअसल, ट्राई के नये नियमों के मुताबिक, फर्जी कॉल और स्पैम मैसेज रोकने के लिए मोबाइल कंपनियों को अपने ऐप स्टोर पर उसका डीएनडी 2.0 डाउनलोड करने का विकल्प देना होगा। इसके लिए ट्राई ने सभी कंपनियों को छह माह की मुहलत दी है। लेकिन एप्पल इसके लिए तैयार नहीं है। इसलिए वह इस नियम के खिलाफ कानून लड़ाई लड़ने का मन बना रही है।

ट्राई ने जारी किया था निर्देश

दरअसल, ट्राई ने 19 जुलाई को टेलीकॉम कंपनियों के लिए कुछ नए दिशा-निर्देश जारी किए थे। इनके अनुसार, देश के सभी टेलिकॉम आपॅरेटरों को यह सुनिश्चित करना है कि उनके नेवटर्क पर सभी रजिस्टर्ड डिवाइस पर डीएनडी ऐप के 2.0 वर्जन को रेग्यूलेशन के नियम 6(2)(e) तथा 23 (2) (d) के तहत नेटवर्क की अनुमति मिले। ट्राई ने कहा था कि इनका पालन नहीं करने पर वह नेटवर्क ऑपरेटर्स से संबंधित मोबाइल कंपनी का नेटवर्क रजिस्ट्रेशन रद्द करवा सकती है। इससे उनके मोबाइल भारतीय नेटवर्क पर नहीं चलेंगे। लेकिन एप्पल ने डीएनडी का  विकल्प देने से इनकार कर दिया है।

एप्पल ने प्राइवेसी को चलते लिया फैसला

वहीं एप्पल का आरोप है कि डीएनडी ऐप यूजर्स के कॉल और मैसेज रिकॉर्ड करता है, जो उनकी प्राइवेसी के को असुरक्षित बनाया है। यह यूजर्स की प्राइवेसी के खिलाफ है। एपल के मुताबिक, उसने ट्राई को पहले ही बता दिया था कि आईओएस-12 में नया फीचर जोड़ा गया है। इस नये फीचर में फर्जी कॉल और मैसेज को ब्लॉक करने जैसे सुरक्षा के कई विकल्प मौजूद हैं। इसके बावजूद ट्राई डीएनडी 2.0 डाउनलोड करने के लिए दबाव बना रहा है।

loading...
शेयर करें