IPL 2020: राजस्थान ने चेन्नई को दी करारी शिकस्त, स्मिथ और बटलर ने खेली बेहतरीन पारी

राजस्थान की जीत
राजस्थान की जीत

स्पोर्ट्स डेस्क: चेन्नई सुपर किंग्स को अपने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के 200वें मैच में निराशाजनक बल्लेबाजी के कारण राजस्थान रॉयल्स के हाथों 7 विकेट से करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा। चेन्नई की उम्मीदों को इस हार से गहरा झटका लगा। जबकि राजस्थान ने इस मनोबल बढ़ाने वाली जीत से अपनी उम्मीदों को कायम रखा।

चेन्नई को करारी शिकस्त

राजस्थान ने अपने स्पिनरों के शानदार और कसे हुए प्रदर्शन से चेन्नई को 20 ओवर में पांच विकेट पर 125 रन का सामान्य स्कोर पर रोक दिया। और फिर 17.3 ओवर में तीन विकेट पर 126 रन बनाकर एकतरफा जीत हासिल कर ली। राजस्थान की 10 मैचों में यह चौथी जीत है और वह आठ अंकों के साथ पांचवें स्थान पर पहुंच गया है। हालांकि प्लेऑफ के लिए अभी उसे बचे हुए चारों मैच जीतने होंगे।

चेन्नई को 10 मैचों में सातवीं हार का सामना करना पड़ा और वह तालिका में आठवें स्थान पर खिसक गयी है। चेन्नई अब प्लेऑफ की होड़ से लगभग बाहर हो चुकी है। और कोई चमत्कार ही उसे प्लेऑफ में पहुंचा सकता है।

28 रन पर गिरे थे तीन विकेट

चेन्नई के लिए छोटे स्कोर का बचाव करते हुए एक उम्मीद तब जगी थी। जब उसने राजस्थान के तीन विकेट मात्र 28 रन तक गिरा दिए थे। लेकिन कप्तान स्टीवन स्मिथ और जोस बटलर ने इसके बाद टिककर खेलते हुए राजस्थान को जीत की मंजिल पर पहुंच दिया। बटलर ने आक्रामक तेवरों के साथ खेलते हुए मात्र 48 गेंदों पर सात चौके और दो छक्के लगाकर नाबाद 70 रन ठोके और टीम को आसान जीत दिलाई।

चौथे विकेट के लिए 98 रन की साझेदारी

स्मिथ धैर्य के साथ खेलते हुए 34 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 26 रन बनाकर नाबाद रहे। बटलर और स्मिथ ने चौथे विकेट के लिए 98 रन की मैच विजयी अविजित साझेदारी की। बेन स्टोक्स 11 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 19, रोबिन उथप्पा चार और संजू सैमसन खाता खोले बिना आउट हुए। लेकिन इसके बाद बटलर और स्मिथ ने चेन्नई को कोई और मौका नहीं दिया। दीपक चाहर ने दो और जोश हेजलवुड ने एक विकेट लिया।

धोनी का IPL में 200वां मैच

धोनी के लिए व्यक्तिगत रूप से तो यह मैच उपलब्धि वाला रहा लेकिन टीम के लिहाज से निराशाजनक रहा। धोनी का आईपीएल में यह 200वां मैच था और यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले खिलाड़ी बने। धोनी ने अपनी 28 रन की पारी के दौरान चेन्नई की तरफ से खेलते हुए 4000 रन भी पूरे किये। उन्होंने राजस्थान की पारी में दो कैच लपके और आईपीएल में विकेट के पीछे 150 शिकार पूरे करने वाले पहले विकेटकीपर बने। लेकिन टीम की हार तीन बार के चैंपियन कप्तान के लिए निराशाजनक रही। धोनी ने आईपीएल में अपना पहला, 50वां ,100वां और 150वां मैच जीता था लेकिन 200वां मैच में करारी शिकस्त झेलनी पड़ी।

ये भी पढ़ें: सिडनी में क्वारंटीन में रह सकेगी टीम इंडिया, 27 नवम्बर से 8 दिसंबर के बीच है मैच 

Related Articles