IPL 2021: तारीखों का ऐलान होते ही धोनी की प्लानिंग पर फिरा पानी!

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ( BCCI ) ने IPL 2021 के 14वें सीजन के लिए तारीखों का ऐलान कर दिया है। पहला मुकाबला मुंबई इंडियंस और रॉयल्स चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच चेन्नई में खेला जाएगा। IPL के शेड्यूल की सबसे बड़ी और अहम बात ये है कि इस बार सभी टीमें अपने घरेलू मैदान पर नहीं खेल पाएंगी। माना जा रहा है कि IPL के इस फैसले से सबसे बड़ा झटका चेन्नई सुपर किंग्स को लगेगा।

CSK को लग सकता है बड़ा झटका

इंडियन प्रीमियर लीग ( IPL ) के इस बार सभी मुकाबले भारत के 6 स्थानों में खेले जाएंगे। इसमें मुंबई, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, दिल्ली और अहमदाबाद शामिल है। लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स अपने मुकाबले मुंबई, दिल्ली, बेंगलुरु और कोलकाता में खेलेंगी। मतलब CSK को 14 में से 10 मैच उन जगहों पर खेलने हैं जहां स्पिन गेंदबाजों को मदद नहीं मिलती है।

बता दें कि चेन्नई सुपर किंग्स ने नीलामी में अपनी टीम के स्पिन अटैक को और मजबूत बनाया था लेकिन दिल्ली में होने वाले 4 मैचों के अलावा किसी और जगह उसे स्पिनर्स का कुछ खास फायदा नहीं मिलने वाला है।

चेन्नई की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

BCCI ने इस बार जिन स्टेडियमों में IPL के आयोजन कराने का फैसला किया है। उसमें दिल्ली को छोड़कर बाकी किसी भी स्टेडियम में स्पिन गेंदबाजों को मदद नहीं मिलेगी। मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम, बेंगलुरु के चिन्नास्वामी और कोलकाता के ईडन गार्डन्स की पिचें स्पिनर्स के लिए इतनी मददगार नहीं हैं साथ ही मैदान भी छोटा है। जिससे धोनी की टीम चेन्नई सुपर किंग्स को बड़ा झटका लग सकता है, क्योंकि चेन्नई ने इस बार नीलामी में मोइन अली, कृष्णप्पा गौतम के तौर पर दो अहम स्पिन गेंदबाजों पर दांव लगाया है।

यह भी पढ़ें: IPL 2021: 9 अप्रैल से होगा सबसे रोमांचक टूर्नामेंट का आगाज, यहां देखें कहां, कब और किसके साथ खेला जाएगा मुकाबला

Related Articles