IPL 2021: चीन से बवाल के बावजूद भी VIVO क्यों बना टाइटल स्पॉन्सर?, जानिए वजह

नई दिल्ली: चाइनीज स्मार्टफोन निर्माता कंपनी VIVO एक बार फिर IPL 2021 में टाइटल स्पॉन्सर के तौर पर वापसी कर रही है। इसकी वजह ये है कि मौजूदा सीजन में इसके लिए उम्मीद के मुताबिक पेशकश नहीं की गई। बता दें कि पिछले सीजन में भारत-चीन सीमा पर तनाव को देखते हुए पिछले साल VIVO का प्रायोजन निलंबित कर दिया गया था और ड्रीम इलेवन को टाइटल स्पॉन्सर बनाया गया था।

टाइटल स्पॉन्सर के तौर पर VIVO की फिर वापसी

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ( BCCI ) और VIVO के बीच 440 करोड़ रुपये का सालाना कॉन्ट्रैक्ट हुआ है। जो काफी बड़ी डील है। इसके बदले कोई और कंपनी इतनी बड़ी रकम चुकाने के लिए तैयार नहीं थी। इसलिए एक बार फिर से VIVO को टाइटल स्पॉन्सर बनाया गया है।

टाइटल स्पॉन्सर के तौर पर VIVO की फिर वापसी
टाइटल स्पॉन्सर के तौर पर VIVO की फिर वापसी

VIVO के टक्कर में कोई नहीं

BCCI सूत्रों ने PTI से बताया कि Dream 11 और अनएकेडमी ने इस साल के लिए जो ऑफर किया था वह वह वीवो की उम्मीदों के अनुरूप नहीं था, जिसके कारण इस साल खुद स्पॉन्सर बनने और अगले साल संभावनाएं तलाशने का फैसला किया है।

Dream 11 ने 222 करोड़ में लिए थे अधिकार

बेटिंग कंपनी Dream 11 ने IPL 2020 के टाइटल स्पॉन्सर के लिए 222 करोड़ रुपये देकर अधिकार हासिल किए था। लेकिन स्मार्टफोन निर्माता कंपनी वीवो पांच साल के करार के लिए एक साल में 440 करोड़ रुपये की धनराशि देगा यह उससे लगभग आधी थी। रिपोर्टों के अनुसार वीवो ने 2018 से 2022 तक IPL स्पॉन्सर अधिकार 2190 करोड़ रुपये में हासिल किए थे।

यह भी पढ़ें: 12वें दिन भी पेट्रोल और डीजल का दाम बढ़ा, जानिए किस रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा पेट्रोल

Related Articles

Back to top button