IPS अमिताभ ठाकुर को सरकार ने समय से पहले जबरन किया रिटायर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के सुर्खियों में रहने वाले IPS अमिताभ ठाकुर को समय से पहले रिटायर कर दिया गया है। गृह मंत्रालय ने अमिताभ ठाकुर को लोकहित में सेवा में बनाए रखे जाने के योग्य न पाते हुए लोकहित में यह फैसला लिया है। इसके बाद अमिताभ ठाकुर ने एक ट्वीट कर लिखा सरकार को अब मेरी सेवाएं नहीं चाहिये। जय हिन्द।

अमिताभ जबरन रिटायर

उत्तर प्रदेश में आईजी रूल्स एंड मैन्युअल के पद पर कार्यरत IPS अफसर अमिताभ ठाकुर को जबरन रिटायर कर दिया गया है। इसके बाद अमिताभ ठाकुर ने एक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा कि मुझे अभी-अभी वीआरएस (लोकहित में सेवानिवृति) आदेश प्राप्त हुआ। सरकार को अब मेरी सेवाएं नहीं चाहिये। जय हिन्द।

केंद्रीय गृह मंत्रालय की स्क्रीनिंग में उत्तर प्रदेश काडर के अमिताभ ठाकुर के साथ राजेश कृष्ण और राकेश शंकर पर भी गाज गिरी है। उन्हें भी सरकारी सेवा के लिए उपयुक्त नहीं पाया गया। को अनिवार्य सेवानिवृति दी गई है।

कौन हैं अमिताभ ठाकुर?

अमिताभ ठाकुर 1992 बैच के आईपीएस अफसर हैं। जो कवि और लेखक भी हैं। अमिताभ ठाकुर लगातार सुर्खियों में रहे हैं। सपा सरकार में मुलायम सिंह से विवाद का ऑडियो वायरल होने के बाद उन्हें  निलंबित कर दिया गया था। हालांकि इसके बाद अमिताभ कोर्ट से बहाल हो गए थे।

यह भी पढ़ें: होली और पंचायत चुनाव को लेकर योगी सरकार की सख्ती, शराब पार्टी की तो खैर नहीं

Related Articles