पहले बड़े-बड़े अपराधियों को सुधारा अब बच्‍चों को खिलाड़ी बनाएंगी यह महिला IPS

BHARTI-ARORA
भारती अरोड़ा

चंडीगढ़। पहले उन्‍होंने बड़े-बड़े अपराधियों और बदमाशों को सुधारा। कानून-व्‍यवस्‍था दुरुस्‍त की। अब वह स्‍कूली बच्‍चों और युवाओं को खेल की बारीकियां सिखाएंगी। अच्‍छी फ‍िटनेस के गुर बताएंगी। खेल के दांव-पेंच सिखाएंगी। वरिष्‍ठ आईपीएस अफसर भारती अरोड़ा आने वाले दिनों में नई भूमिका में होंगी। देश के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा जब एक वरिष्‍ठ आईपीएस को स्‍कूल का प्रिंसिपल बनाया जा रहा है। उन्‍हें स्‍पोट़र्स स्‍कूल राई (सोनीपत) का प्रिंसिपल बनाया जाएगा। खुद मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट़टर ने इसकी मंजूरी दे दी है।

जानकार सूत्रों के अनुसार खेल एवं युवा मामले मंत्री अनिल विज के कार्यालय से फाइल गृह विभाग में पहुंच चुकी है। गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास नियुक्ति आदेश जारी करेंगे। इस समय भारती अरोड़ा पंचकूला पुलिस मुख्यालय में डीआईजी (वैलफेयर एंड ट्रेनिंग) के पद पर कार्यरत हैं।

गुड़गांव में संयुक्त पुलिस आयुक्त पद पर रहते हुए उनका गुड़गांव के पुलिस आयुक्त नवदीप सिंह विर्क के साथ रेप से जुड़े एक मामले को लेकर विवाद हुआ था। बुधवार को भारती अरोड़ा हरियाणा सिविल सचिवालय में भी नज़र आईं। उन्होंने मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव आरके खुल्लर के अलावा दो-तीन वरिष्ठ अधिकारियों से भी मुलाकात की।

प्रदेश की भाजपा सरकार ने सत्ता में आने के करीब तीन महीने बाद ही राई के प्रिंसिपल कैप्टन वीके वर्मा को अनियमितताओं के आरोप में पद से हटा दिया था। तब से यह पद खाली है। सोनीपत के डीसी को ही स्कूल के प्रिंसिपल का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा हुआ है। दोबारा नियुक्ति प्रक्रिया में करीब चार दर्जन लोगों ने आवेदन भी किया, लेकिन एक को छोड़कर ज्यादातर शर्तें पूरी नहीं कर पाये।

तब भी विज, अब भी विज

रोचक है कि वर्ष 2009 के दौरान जब भारती अरोड़ा अंबाला की एसपी थीं तब वहां के विधायक अनिल विज के साथ विवाद में गिरफ्तारी हुई थी। वर्तमान में खेल मंत्रालय विज के पास ही है। राई में प्रिंसिपल की नियुक्ति में देरी होती देख विज ने सीएम को भेजी फाइल में किसी वरिष्ठ आईएएस या आईपीएस अधिकारी को प्रिंसिपल बनाने की सिफारिश की थी।

राई स्पोर्ट्स स्कूल बनेगा खेल विश्वविद्यालय

प्रदेश सरकार ने राज्य में अलग से खेल विश्वविद्यालय स्थापित करने की तैयारी शुरू कर दी है। सोनीपत में चल रहे मोतीलाल नेहरू स्पोर्ट्स स्कूल, राई को ही यूनिवर्सिटी में अपग्रेड किया जाएगा। सीएम मनोहरलाल खट्टर खेल विभाग के इस प्रस्ताव पर मुहर लगा चुके हैं। सीएम की मंजूरी के बाद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी का मामला मंजूरी के लिए केंद्र सरकार को भेजा गया है।
हालांकि यूनिवर्सिटी के लिए केंद्र की मंजूरी की जरूरत नहीं है, लेकिन सरकार की कोशिश है कि यूनिवर्सिटी के लिए केंद्र सरकार से बजट मिल सके, यूनिवर्सिटी स्थापित करने में दिक्कत न आयें। राई स्पोर्ट्स स्कूल की स्थापना 1973 में मोतीलाल नेहरू के नाम पर की गयी थी। स्कूल में खेलों के साथ-साथ शैक्षिक पाठ्यक्रम भी हैं। खेल एवं युवा मामलों के मंत्री अनिल विज ने जनवरी में नयी खेल नीति की घोषणा के दौरान राज्य में स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी बनाने का ऐलान किया था।  स्कूल का 270 एकड़ का कैम्पस इतना बड़ा है कि यहां आसानी से यूनिवर्सिटी चलाई जा सकती है।

 

इनपुट सहयोग : साभार दैनिक ट्रिब्यून

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button