ईरान का आरोप, बादल और बर्फ चुराकर इजरायल कर रहा हमारे मौसम से छेड़छाड़

0

तेहरान: ईरान और इजराइल में आरोप प्रत्यारोप और जुबानी जंग का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. ईरान ने  इजराइल पर अब एक नया आरोप लगाया है. ईरान के एक सैन्य जनरल ने कहा है कि इजरायल अपने देश के बादल और बर्फ चुराकर उनके मौसम से छेड़छाड़ कर रहा है, जिसके चलते देश में बारिश नहीं हो रही. ईरान के ब्रिगेडियर जनरल और देश के सिविल डिफेंस ऑर्गनाइजेशन के प्रमुख घोलम रजा जलाली का कहना है कि ईरान में हो रहा जलवायु परिवर्तन शक के घेरे में है. इसमें विदेशी हस्तक्षेप अहम रोल निभा रहा है. इजरायल और एक अन्य देश इस बात की कोशिश कर रहे हैं कि ईरान पर बादल तो छाएं लेकिन बारिश न करें.

पहले भी ऐसे आरोप लगा चुका ईरान

जलाली का कहना है कि हम बादल और बर्फ की चोरी से जूझ रहे हैं. अफगानिस्तान और भूमध्य सागर के बीच का 2200 मीटर का पहाड़ी हिस्सा बर्फ से ढका होता है. लेकिन ऐसा ईरान में नहीं है. हालांकि ये पहला मामला नहीं है कि जब ईरान में किसी अफसर ने अन्य देश पर बारिश चोरी का आरोप लगाया हो. साल 2011 में पूर्व राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद ने कहा था कि पश्चिमी देशों के चलते ईरान सूखाग्रस्त है. उनका ये भी कहना था कि यूरोपीय देश एक खास तरह के उपकरण का इस्तेमाल करके बादलों को कैद कर लेते हैं.

ईरान के मौसम विभाग ने बात नकारी

ईरान के मौसम विभाग के प्रमुख अहद वजीफे ने कहा कि जनरल जलाली ने क्या कहा, इसकी मुझे जानकारी नहीं है. मौसम को लेकर जितनी मेरी जानकारी है, उसके मुताबिक कोई भी देश बादल या बर्फ की चोरी नहीं कर सकता. ईरान लंबे समय से सूखे की मार झेल रहा है. ये एक वैश्विक समस्या है. इसे केवल ईरान पर ही लागू नहीं किया जा सकता. इस तरह के सवाल उठाने से हमारी समस्या को हल नहीं निकलेगा. हमें निकालना होगा, जिसके हम कोशिश कर रहे है.

loading...
शेयर करें