भारत की सुरक्षा व्यवस्था में आईएसआई (ISI) ने लगाई सेंध, IB ने किया उजागर

जैसलमेर: पाकिस्तानी खुफिया ऐजेन्सी आईएसआई (ISI) के जैसलमेर जिले के लाठी थाना क्षेत्र में एक पूर्व सरपंच पति को अपने हनीट्रेप के जाल में फंसाकर पिछले एक साल से भी ज्यादा समय से सामरिक, सैन्य गोपनीय दस्तावेज एवं सेना के मूवमेन्ट के बारे में जानकारी हासिल करने की एक सनसनीखेज मामले का भारतीय खुफिया एवं सुरक्षा एजेंसियों ने खुलासा किया हैं।

आईबी (IB) ने किया भंडाफोड़

खुफिया ऐजेन्सी इंटेलीजेन्स ब्यूरो (IB) से मिले इनपुट के आधार पर राजस्थान की सीआईडी पुलिस ने आज एक संयुक्त ऑपरेशन में इस पूर्व सरपंच पति सत्यनारायण पालीवाल को डिटेन कर उससे पूछताछ शुरू की हैं जिसमें उसने कुछ गोपनीय डॉक्युमेन्ट्स सोशल मीडिया (Social Media) के जरिए शेयर करने की बात स्वीकारी हैं उससे और गहन जांच पड़ताल के लिये जयपुर ले जाया जा रहा है।

अधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण जैसलमेर की पोकरण फायरिंग रेन्ज में 12 महिना सेना एवं वायुसेना की सैन्य व सामरिक गतिविधियां चलती रहती हैं, पोकरण रेन्ज तीन हिस्सों में बटी हुई हैं जिसमें लाठी क्षेत्र में टैंक व गन्स की फायरिंग होती रहती हैं पूरे देश से सेना की विभिन्न रेजीमेन्टें समय समय पर अपने फायरिंग प्रेक्टिस के लिये यहां आती रहती हैं इसके करण यह रेन्ज देश की सुरक्षा के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण मानी जाती है।

हनीट्रेप के जाल में फंसाकर इकठ्ठा की भारतीय जानकारी

उधर पाकिस्तान लाठी व खेतोलई फायरिंग रेन्ज से सैन्य गतिविधियों की जानकारी हासिल करने की जोरदार कोशिशें करता रहता हैं इसी कड़ी में पाकिस्तानी खुफिया ऐजेन्सी आईएसआई की महिला विंग ने जैसलमेर जिले के लाठी क्षेत्र के रहने वाले तत्कालीन सरपंच के पति सत्यनारायण पालीवाल को फ्रेण्ड रिक्वेस्ट भेज कर उसे अपनी हनीट्रेप के जाल में फंसाया।

पाकिस्तान ख़ुफ़िया एजेंसी (ISI  सक्रिय

सूत्रों ने बताया कि लाठी क्षेत्र में तैनात सरपंच पति को वहां पर आने वाली रेजीमेन्ट को फायरिंग तथा अन्य गतिविधियों के लिए एनओसी, सर्टिफिकेट एवं अन्य जानकारियां देनी होती हैं। ऐसे में उक्त सरपंच के पास उस क्षेत्र में सभी सैन्य मूवमेन्ट की जानकारी होती हैं जिसका पाक खुफिया ऐजेन्सी आईएसआई ने फायदा उठाकर इस सरपंच पति को हनीट्रेप के जाल में फंसाया।

उसके बाद सैन्य डॉक्युमेन्ट व जानकारी हासिल करने शुरू किए व सीमा पार से बैठी यह महिलाएं चिकनी चुपड़ी बातें कर इस पूर्व सरपंच से कई गोपनीय जानकारी हासिल करने में कामयाब हो गई।

राजस्थान इंटेलीजेन्स के अतिरिक्त महानिदेशक उमेश मिश्रा ने इस मामले की पुष्टि करते हुये बताया कि हमनें जैसलमेर जिले के लाठी क्षेत्र से हनीट्रेप में फंसकर सीमा पार सामरिक सूचना भिजवाने के संदेह में एक संदिग्ध व्यक्ति सत्यनारायण पालीवाल को डिटेन किया हैं उससे पूछताछ जारी हैं एवं गहन जांच पड़ताल के लिये जयपुर लाया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: हेमंत सरकार में कानून व्यवस्था पूरी तरह विफल: दीपक प्रकाश

Related Articles