क्या देश मे आने वाली है तीसरी लहर? प्रोफेसर ने बताया इसका कितना पड़ेगा प्रभाव

लखनऊ: देश मे कोरोना की दूसरी लहर ने तो आफत मचा रखा था वहीं इसके शांत होने के बाद लोगो मे तीसरी लहर का डर बना हुआ है। वहीं इस मामले बीएचयू BHU में जूलॉजी विभाग के प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे (Professor Gyaneshwer Chaubey) ने बड़ा बयान दिया है। ज्ञानेश्वर चौबे ने बताया है कि दूसरी लहर के मुकाबले तीसरी लहर कम घातक होगी। वहीं जिन लोगों को टीका लगवा लिया है उनपर इसका प्रभाव नहीं पड़ेगा।

प्रोफेसर ने बताया है कि अगर हम नवंबर तक 90-95 % लोगों का लगवा दें तो मुझे नहीं लगता है कि तीसरी लहर से इसका लोगों पर इसका प्रभाव पड़ेगा। इसलिए हम नवंबर में फिर से डेटा का विश्लेषण करेंगे। फिर हम बताएंगे कि अगले तीन महीनों में क्या हालात होंगे। हम कोरोना वायरस संक्रमण की नियमित निगरानी कर रहे हैं।

उन्होंने बताया है कि हर तीन महीने में एंटीबॉडी का स्तर गिरता है और तीसरी लहर की संभावना होती है। अगर ऐसा होता है तो तीसरी लहर आ सकती है, लेकिन मौजूदा टीकाकरण अभियान से वायरस के खिलाफ लड़ाई में मदद मिलेगी। अगर हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता 70 प्रतिशत से ज्यादा है तो उस समूह में कोविड का प्रभाव कम होगा और धीरे-धीरे इसकी आवृत्ति कम होने लगेगी।

 

Related Articles