‘डेढ़ दशक पहले भी हो सकता था बिहार का विकास पर सरकार की नियत नहीं थी’

PM मोदी ने राज्य विधानसभा चुनाव के लिए आज चार चुनावी जनसभाओं की शुरुआत छपरा से करते हुए कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) आत्मनिर्भर बिहार के जिस संकल्प को लेकर चला है उसकी प्रेरणा और प्रोत्साहन सुशासन है।

छपरा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 साल पूर्व राज्य में अपहरण और रंगदारी की होने वाली घटनाओं की याद दिलाते हुए कहा कि आज आत्मनिर्भर बिहार बनाने के संकल्प की प्रेरणा और प्रोत्साहन सुशासन है और उन्हें पूरा भरोसा है कि प्रदेश के लोग सत्ता से स्वार्थ की राजनीति करने वालों को दूर रखकर बिहार को बीमार होने से बचाएंगे।

PM मोदी ने राज्य विधानसभा चुनाव के लिए आज चार चुनावी जनसभाओं की शुरुआत छपरा से करते हुए कहा कि राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) आत्मनिर्भर बिहार के जिस संकल्प को लेकर चला है उसकी प्रेरणा और प्रोत्साहन सुशासन है। आज बिहार का इंफ्रास्ट्रक्चर बेहतर हुआ है और शांति व्यवस्था बनी हुई है । बिहार के गांव भी आज सड़क, बिजली और पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं से जुड़ गई है। उन्होंने कहा कि यह काम डेढ़ दशक पहले भी हो सकता था यदि तब की सरकार के पास नीयत और इच्छाशक्ति होती ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बिहार के पास सामर्थ्य और सरकार के पास पर्याप्त पैसा तब भी था लेकिन फर्क सिर्फ इतना था कि बिहार में उस समय जंगलराज थ । उन्होंने कहा, “उस समय यहां पुल बनाने का कौन काम कौन कर सकता था जब इंजीनियर और ठेकेदार 24 घंटे खतरे में हों। किसी कंपनी को यदि काम मिलता भी था तो वह यहां काम शुरू करने से पहले सौ बार सोचता था। काम शुरू करने से पहले उसे फिरौती पक्की करनी पड़ती थी।”

ये भी पढ़ें : प्रयागराज माघ मेले में ‘दाे गज की दूरी- मास्क जरूरी’, श्रद्धालुओं को मिलेगा पर्याप्त गंगाजल

Related Articles

Back to top button