जीत के लिए खिलाड़ियों में आत्मविश्वास जगाना जरूरी: रोहित शर्मा

रोहित ने आईपीएल खिताब जीतने के बाद कहा, “पूरे सीजन में जिस तरह से हम खेले उससे मैं बहुत खुश हूं। हमने शुरुआत में कहा था कि हमें जीतने की आदत डालने की जरूरत है।'

दुबई: दिल्ली कैपिटल्स को आईपीएल के खिताबी मुकाबले में पांच विकेट से हराकर पांचवी बार चैंपियन बनने के बाद मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि वह ऐसे कप्तान नहीं हैं जो अच्छे प्रदर्शन के लिए खिलाड़ियों के पीछे छड़ी लेकर दौड़ें लेकिन जीत के लिए उनमें आत्मविश्वास जगाना जरूरी होता है।

मुंबई ने 20 ओवर में खड़ा किया 156 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर

दिल्ली ने मंगलवार को आईपीएल-13 के खिताबी मुकाबले में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुये 20 ओवर में सात विकेट पर 156 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया। इसके बाद मुंबई ने 18.4 ओवर में पांच विकेट पर 157 रन बनाकर आसानी से खिताब अपने नाम कर लिया और पहली बार फाइनल खेल रही दिल्ली का आईपीएल का नया चैंपियन बनने का सपना टूट गया। मुंबई ने 2020 से पहले 2013, 2015, 2017 और 2019 में खिताब जीते थे।

रोहित शर्मा बोले ‘पूरे सीजन में जिस तरह से हम खेले उससे मैं बहुत खुश’

रोहित ने आईपीएल खिताब जीतने के बाद कहा, “पूरे सीजन में जिस तरह से हम खेले उससे मैं बहुत खुश हूं। हमने शुरुआत में कहा था कि हमें जीतने की आदत डालने की जरूरत है। हम इससे ज्यादा की चाहत नहीं कर सकते। हमने आगे बढ़ने के बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। मुझे लगता है कि जीत का बहुत सारा श्रेय पर्दे के पीछे काम करने वाले लोगों को जाता है। इन लोगों की मेहनत पर अक्सर किसी का ध्यान नहीं जाता।”

IPL से बहुत पहले शुरू हो गया था हमारा काम : रोहित शर्मा

उन्होंने कहा, “हमारा काम आईपीएल शुरू होने से बहुत पहले शुरू हो गया था। मुझे टीम के खिलाड़ियों में से सर्वश्रेष्ठ बाहर लाने के लिए काम करना था। मैं ऐसा व्यक्ति नहीं हूं जो अच्छे प्रदर्शन कराने के लिए उनके पीछे छड़ी लेकर दौड़ लगाऊं। खिलाड़ियों में आत्मविश्वास जगाना जरूरी होता है। क्रुणाल, हार्दिक और पाेलार्ड लंबे समय तक बहुत अच्छा खेले। वे अपनी भूमिकाएं जानते हैं।”

सूर्यकुमार बहुत परिपक्व खिलाड़ी

रोहित ने कहा, “हमने यह सुनिश्चित किया कि ईशान और सूर्यकुमार आत्मविश्वास से भरे रहें। सूर्यकुमार बहुत परिपक्व खिलाड़ी हैं। वह पूरे टूर्नामेंट में फॉर्म में रहे और कुछ अविश्वसनीय शॉट भी खेले। दूर्भाग्यवश इस सीजन में स्टेडियम में प्रशंसक मौजूद नहीं थे। हमें वानखेड़े जैसे माहौल में खेलना याद आया। उम्मीद है कि अगले वर्ष वहां फिर आईपीएल खेलेंगे।”

ये भी पढ़ें : समाचार पोर्टलों, मनोरंजन वेबसाइट, नेटफिल्क्स, अमेजन पर सरकार की पैनी नजर

Related Articles

Back to top button