जगजीत सिंह की बेहतरीन गजलें जिन्हें सुनकर रूह को मिलता है सुकून

गजल के बादशाह, सुरों के सरताज जगजीत सिंह की आज जयंती है. जगजीत सिंह ने अपनी जादुई आवाज से दुनियाभर के लोगों को मदहोश कर दिया.

संगीत और गजल की दुनिया में एक दौर आया था जब भारत नहीं बल्कि पूरी दुनिया से लोग जगजीत सिंह की गजलों को सुनने के लिए बेताब रहते थे. दुनिया के तमाम कोनों में जगजीत सिंह के गजलों के प्रोग्राम ने लाखों की भीड़ जमा होती थी.

गजलों से बॉलीवुड में जगजीत सिंह ने एक अलग पहचान बनाई थी. बॉलीवुड फिल्मों के अलावा जगजीत सिंह की कई ऐसी गजलें हैं जिसे सुनने के बाद दिल, रूह, दिमाग सब शांत हो जाता है. उनके जन्मदिन पर आप भी सुनिए उनकी सुपरहिट गजले, जो सबको मदहोश कर देंगे.

होशवालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज़ है
इश्क कीजिये फिर समझिये ज़िन्दगी क्या चीज़ है

होशवालों को खबर क्या बेखुदी क्या चीज़ है

कोई फ़रियाद तेरे दिल में दबी हो जैसे, तूने आंखों से कोई बात कही हो जैसे, जागते जागते इक उम्र कटी हो जैसे, जान बाकी है मगर सांस रूकी हो जैसेहम्म हम्म हा.हम्म हम्म , तुमको देखा तो ये ख़याल आया
ज़िंदगी धूप तुम घना साया, तुमको देखा तो ये ख़याल आया

तुमको देखा तो ये ख़याल आया , ज़िंदगी धूप तुम घना साया
तुमको देखा तो ये ख़याल आया, आज फिर दिल ने इक तमन्ना की
आज फिर दिल ने इक तमन्ना की , आज फिर दिल को हमने समझाया
आज फिर दिल को हमने समझाया

तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो
तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो
क्या गम है जिसको छुपा रहे हो?
क्या गम है जिसको छुपा रहे हो?
तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो

Related Articles