WHO के मैप में भारत से अलग नजर आया जम्मू-कश्मीर और लद्दाख

नई दिल्ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अपने एक नक्शे में जम्मू और कश्मीर के साथ लद्दाख को भारत से अलग दर्शाया है। भारतीय हिस्सा इसमें नीले रंग से दिखाया गया है, जबकि जम्मू और कश्मीर सहित लद्दाख को ग्रे कलर से चिह्नित किया गया है। यह कलर कोडेड मैप डब्ल्यूएचओ की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध है। विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी इस मैप लेकर ब्रिटेन में रह रहे भारतीय प्रवासी काफी नाराज है.

WHO के आधिकारिक वेबसाईट पर उपलब्ध है मैप

डब्ल्यूएचओ (WHO) की आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध इस मैप में देश के दो नए केंद्र शासित प्रदेशों को ग्रे रंग से दिखाया गया है, जबकि भारत को अलग नीले रंग वाले हिस्से में दर्शाया गया है. वहीं, अक्साई चिन का विवादित हिस्सा ग्रे रंग से दिखाया गया है, जिस पर नीले रंग की पट्टियां/धारियां हैं।

यह विवादित नक्शा विश्व स्वास्थ्य संगठन  की ‘Covid-19 Scenario Dashboard’ में उपलब्ध है, यह डैशबोर्ड (Dashboard) अलग-अलग देशों में कोरोना के मामलों और उससे हुई कुल मौतों को दर्शाता है. जब मैप पर बवाल मचा तो विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस पर अपनी सफाई देते हुए कहा कि संगठन यूनाइटेड नेशन के दिशा-निर्देशों का पालन करता है, इसलिए उसी हिसाब से अलग-अलग देशों के मैप को पढ़ता और समझता है.

कही ये चीन की साजिश तो नहीं?

सबसे पहले इस मैप पे लंदन में रहने वाले आईटी कंसल्टेंट पंकज की नजर पड़ी. पंकज के मुताबिक किसी WhatsApp ग्रुप पर इसे शेयर किया गया था। उन्होंने एक अंग्रेजी अखबार से पूरी जानकारी साझा करते हुए बताया कि जब उन्होंने जम्मू कश्मीर और लद्दाख को दूसरे रंग के साथ देखा तो वो आश्चर्यचकित रह गए.

पंकज बताते है कि ये देखकर वो काफी हैरत में थे, उन्हें भरोसा ही नहीं हो रहा था कि, डब्ल्यूएचओ (WHO) जैसी संस्थान से इतनी बड़ी गलती हो सकती है. उन्होंने आगे बोलते हुए कहा कि इन सब के पीछे चीन का हाथ हो सकता है, क्योंकि चीन डब्ल्यूएचओ को बहुत अधिक फंड देता है, इसलिए WHO पर चीन का काफी अधिक असर दिखता है।”

यह भी पढ़ें: इमरान खान के बेतुके बयान, ISIS से मिलकर पाकिस्तान को अस्थिर कर रहा भारत

Related Articles

Back to top button