डीजीपी जावीद अहमद ने संभाला कार्यभार, महिला अपराधों पर लगाएंगे अंकुश

Puri Duniaलखनऊ। उत्‍तर प्रदेश के नए डीजीपी जावीद अहमद ने आज ही अपना कार्यभार संभाल लिया। कार्यभार संभालने के बाद उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में बढ़ रहे महिला अपराधों पर अंकुश लगाना उनकी सबसे पहली प्राथमिकता रहेगी।

उन्‍होंने कहा कि प्रदेश में पुलिस और जनता के बीच विश्‍वसनीयता की काफी कमी है। वह इस पर भी जोर देंगे। उन्‍होंने कहा कि वे कानून व्‍यवस्‍था में सुधार के लिए लीडरशिप भी प्रोवाइड कराएंगे।

ये भी पढें- जावीद अहमद बने उत्तर प्रदेश के नए डीजीपी…

उन्‍होंने आईएसआईएस को एक बड़ी चुनौती बताते हुए कहा कि यूपी में उनके तंत्र को तलाशा जाएगा। साथ ही यूपी में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वालो को भी बख्‍शा नहीं जाएगा। उन्‍होंने गोकशी की घटना पर कहा कि इस पर कार्रवाई जरूर होगी।

उन्‍होंने थानों और कोतवाली में मेरिट, परफार्मेंस और नियमों के तहत तैनाती पर भी जोर दिया। उन्‍होंने कहा कि पुलिस में प्रोफेशनलिज्‍म की कमी है। किसी की एफआईआर न लिखना अफ़सोस की बात है। उन्‍होंने कहा कि आंकड़े छि‍पाने के लिए एफआईआर न लिखने से कभी क्राइम कण्ट्रोल नहीं होगा।

पुलिस के सामने कई चुनौतियां हैं सांप्रदयिकता, संघठित अपराध और ट्रैफिक। उनकी प्राथमिकता कानून का राज्य स्थापित करना होगी। ऐसा करने में किसी ने हीलाहवाली की तो उसे भी बख्‍शा नहीं जाएगा।

आपको बता दें कि जावीद अहमद को आज ही मुख्‍यमंत्री ने प्रदेश का नया डीजीपी नियुक्‍त किया है। वह अभी तक डीजी रेलवे के पद पर तैनात थे। जावीद 1984 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button