जयराम मंत्रिमंडल के प्रबल दावेदार है नूरपुर के विधायक राकेश पठानिया

शिमला: हिमाचल में रिक्त दो पदों में से किसी एक पद ही भरे जाने की संभावना नजर आ रही है। वरिष्ठ विधायक गण फिर कैबिनेट विस्तार की बाट जोह रहे हैं। कैबिनेट मंत्री का अगर एक पद भरा जाता है तो इसके लिए सबसे प्रबल दावेदार नूरपुर के विधायक राकेश पठानिया माने जा रहे हैं। 26 फरवरी को होने जा रहे नए विधानसभा अध्यक्ष के चयन से भी मंत्रिमंडल विस्तार की तस्वीर साफ  हो सकती है।

इससे पहले भाजपा के राज्याध्यक्ष का पद भरे जाने को लंबी कशमकश चली। अध्यक्ष पद के लिए कई नाम चले। आखिर में सब नामों को किनारे कर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष बना दिया गया। अब विधानसभा अध्यक्ष का पद भी खाली है।
https://puridunia.com/court-refuses-to-issue-new-death-warrant-in-nirbhaya-case/439723/
स्पीकर के पद के लिए मंडी के सरकाघाट के भाजपा विधायक कर्नल इंद्र सिंह भी दौड़ में हैं। ऐसे में अगर मंत्री पद भरने पर विचार होता है तो इसके लिए कांगड़ा या हमीरपुर संसदीय क्षेत्रों की दावेदारी बढ़ गई है।

शिमला संसदीय क्षेत्र के नाहन विधानसभा क्षेत्र से डॉ. बिंदल की ताजपोशी के बाद इस क्षेत्र के मंत्री पद के दावे कम हो गए हैं। अगर मंडी संसदीय क्षेत्र को स्पीकर मिल जाता है तो इस क्षेत्र की भी दावेदारी कम हो जाएगी। इससे कांगड़ा और हमीरपुर संसदीय क्षेत्रों का मंत्री पद का दावा मजबूत होगा।
मंत्री पद की ये रिक्तियां मंडी और कांगड़ा में ही हुई हैं। मंडी को अगर स्पीकर मिल जाता है तो इस स्थिति में कांगड़ा की यह दावेदारी और प्रबल हो जाएगी। इस स्थिति में कांगड़ा के नूरपुर के भाजपा विधायक राकेश पठानिया मंत्री पद के लिए प्रबल दावेदार बन गए हैं।
एक अन्य संभावना हमीरपुर संसदीय क्षेत्र से भी किसी वरिष्ठ विधायक को मंत्री बनाने की है। उधर, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर स्पष्ट कर चुके हैं कि बजट सत्र के दौरान या इस बीच राज्य मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है।

Related Articles