जद(यू) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक आज, एनडीए में पार्टी की भूमिका पर नीतीश कर सकते हैं बड़ा फैसला

0

नई दिल्ली: देश में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सभी राजनैतिक दलों ने समीकरण बनाने शुरू कर दिये हैं. 2019 के चुनाव को लेकर सभी पार्टियों की नजर उत्तर प्रदेश और बिहार पर है. वहीं बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल (यूनाईटेड) जदयू चीफ नीतीश कुमार ने भी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पार्टी की रणनीति तैयार करनी शुरू कर दी है. वह रविवार को जद(यू) की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी पदाधिकारियों को संबोधित करेंगे. माना जा रहा है कि इस बैठक में नीतीश कई अहम फैसले ले सकते हैं. ऐसा पहली बार है जब जद(यू) अपनी कार्यकारिणी की बैठक दिल्ली में आयोजित कर रही है.

एनडीए गठबंधन पर नीतीश ले सकते हैं बड़ा फैसला

जद(यू) की ये बैठक उस समय हो रही है, जब बिहार में उसकी सहयोगी दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के साथ सीटों को लेकर खींचतान चल रही है. आपको बता दें 2014 लोकसभा चुनावों में जद(यू) अकेले लड़ते हुए मात्र 2 सीटों पर ही अपनी जीत दर्ज कर पाई थी. वहीं भाजपा ने 22 सीटों पर जीत दर्ज की थी. लेकिन जेडी(यू) लगातार इस बात को उठाती रही है कि राज्य में विधानसभा सीटों की ताकत को देखते हुए उसे ज्यादा सीटें दी जाए. यह भी कहा जा रहा है कि पार्टी की बैठक में एनडीए गठबंधन को लेकर नीतीश बड़ा फैसला ले सकते हैं.

भाजपा से नाराज चल रहे नीतीश

नीतीश कुमार बीते कुछ दिनों से भाजपा के रवैये से नाराज़ बताए जा रहे है, जिसके चलते उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव को फोन कर आगामी चुनाव के समीकरण के संकेत भी दे दिए हैं. बिहार के बदलते राजनीतिक समीकरण को देखते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह 12 जुलाई को पटना जा रहे हैं, जहां उनकी मुलाकात नीतीश कुमार से भी होगी. माना जा रहा है कि इस मुलाकात के दौरान नीतीश 2019 लोकसभा चुनावों को लेकर एनडीए में उनकी भूमिका क्या होगी इस पर अपने मन की बात रखेंगे.

गौरतलब है कि जद(यू) समूचे बिहार में अपनी छाप छोड़ने को बाद देश में भी पार्टी को विकसित करना चाहती है. लिहाजा इस बैठक में नीतीश पार्टी के राज्य प्रमुखों से ‘बिहार प्लस’ योजना को लेकर भी बात कर सकते हैं. जद(यू) इस साल के अंत में होने वाले चार राज्यों के विधानसभा चुनावों मे अपने उम्मीदवार भी उतार सकते हैं.

loading...
शेयर करें