शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के ‘जेठालाल’ ने कोरोना के दौरान बताया शूटिंग का अनुभव

मुंबई: कोरोना वायरस में लॉकडाउन के बाद लगभग सभी सीरियल्स की शूटिंग शुरू हो चुकी है. सभी टीवी शो पर कोरोना वायरस को ध्यान में रखते हुए सावधानी बरतते हुए शूटिंग की जा रही है. वहीं, हाल ही में ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के मुख्य किरदार दिलीप जोशी ने कोरोना के दौरान टीवी शो में अपने काम करने का अनुभव साझा किया है. दिलीप जोशी ने कहा कि लॉकडाउन के बाद पहले दो दिन जब हमने शूटिंग की शुरुआत की तो ऐसा लग रहा था मानो हम हॉस्पिटल में शूटिंग कर रहे हैं. हर किसी ने मास्क पहना हुआ था और आसपास सेनिटाइजर की काफी महक थी.

दिलीप जोशी ने अपना अनुभव साझा करते हुए कहा, “हमने सेट पर शूटिंग की पूरी प्रक्रिया ही बदल दी है, क्योंकि इस महामारी में कई लोगों के साथ शूट करना संभव नहीं था. हमारे पास बहुत बड़ा टेक्निकल स्टाफ है और उन्हें भी सावधानियां बरतनी पड़ती हैं. वे अपने हाथ सेनिटाइज करते हैं, मास्क पहनते हैं. यहां तक कि जब हमने लॉकडाउन के बाद शूटिंग शुरू की थी तो ऐसा लगता था मानो हॉस्पिटल में शूटिंग कर रहे हों. चारों तरफ सेनिटाइजर की काफी महक होती थी और हर किसी ने मास्क पहना हुआ था. हम आश्चर्य में थे कि कॉमेडी कैसे करेंगे.”

 

दिलीप जोशी ने इंटरव्यू में आगे कहा, “लेकिन मुझे लगा कि स्थिति ही ऐसी है कि हम कुछ कर नहीं सकते. हमने अपना काम अच्छे से किया, जिससे काम पर इसका नुकसान न हो और लोग पहले की तरह ही मनोरंजित हो जाएं.” सावधानियों के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “हमारे पास काफी स्टार कास्ट हैं, ऐसे में शूट के दौरान सावधानियां बरतनी जरूरी हैं.

उन्होंने आगे बताया- यहां तक कि अगर हम कोशिश करें और कुछ कलाकारों के साथ ही काम करें तो भी हमारे स्टार कास्ट के कारण सेट पर काफी लोग हो जाते हैं. हम भाग्यशाली हैं कि सेट पर हमारे पास सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए ढेर सारी जगह है. असित भाई, हमारे प्रोड्यूसर ने सेट पर अच्छे इंतजाम किए हैं. उन्होंने हर मीटर पर सेट पर सेनिटाइजर रखवाया है.”

Related Articles

Back to top button