झांसी: 12 दिन की पड़ताल के बाद महिला प्रोफेसर के साथ बलात्कार का मुक़दमा दर्ज

पीड़िता ने प्रार्थना पत्र में बताया था कि वर्ष 2007 में बुलंदशहर का एक युवक अपनी पत्नी का प्रवेश दिलाने के लिए बुंदेलखंड विश्वविद्यालय आया था. इस दौरान उसकी मुलाकात महिला प्रोफेसर से हुई.

झांसी: उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड विश्वविद्यालय की महिला प्रोफेसर ने बुलंदशहर के एक युवक पर दुष्कर्म का गंभीर आरोप लगाया जिस पर पुलिस ने 12 दिनों तक चली लंबी पड़ताल के बाद गुरूवार को मामला दर्ज कर लिया है।

पीड़िता ने 12 दिन पहले लगाया था यौन शोषण का आरोप

पुलिस ने गुरूवार को बताया कि पीड़िता ने 12 दिन पहले बुलंदशहर के एक युवक अंकुर सिंह पर यौन शोषण का आरोप लगाते हुए आरोप पत्र दिया था जिसके बाद नवाबाद थाना पुलिस ने लंबी जांच पड़ताल की और जांच के बाद युवक और उसके परिजनों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज किया।

युवक ने पीड़िता को अपने प्रेम जाल में फंसाया

पीड़िता ने प्रार्थना पत्र में बताया था कि वर्ष 2007 में बुलंदशहर का एक युवक अपनी पत्नी का प्रवेश दिलाने के लिए बुंदेलखंड विश्वविद्यालय आया था। इस दौरान उसकी मुलाकात महिला प्रोफेसर से हुई। युवक द्वारा बुलंदशहर में कॉलेज बनाने का प्रपोजल दिया और इसी वजह से दोनों के बीच बातचीत होने लगी। इस बीच युवक ने पीड़िता को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया और उसका यौन उत्पीड़न किया, इतना ही नहीं शादी का झांसा देकर कई बार गर्भपात भी कराया गया। इसके बाद भी जब आरोपी का मन नहीं भरा तो उसने पीड़िता के भोलेपन का फायदा उठाते हुए उससे रुपए हड़पना शुरू कर दिए। इस काम में युवक के परिजन भी शामिल थे और परिजन पीड़िता से एक ट्रैक्टर भी ले भागे। लाखों रुपए लेकर युवक भी झांसी से चंपत हो गया।

पीड़िता की माने तो जब आरोपी ने उसको अपने प्रेम जाल में फंसाया, उस समय पीड़िता का भी अपने पति से मनमुटाव चल रहा था, इस बात का फायदा युवक ने उठाया और पीड़िता का शोषण किया। जब पीड़िता युवक से अपने पैसे मांगे तो वह साफ मुकर गया।

आरोपी के परिजनों ने भी युवक का ही साथ दिया और पीड़िता को धमकाया। इससे परेशान होकर पीड़िता को नवाबाद पुलिस की शरण लेनी पड़ी। पुलिस ने 12 दिन की लम्बी पड़ताल के बाद आरोपी युवक अंकुर सिंह,राजपाल सिंह व निशान्त सिंह के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़े: 

Related Articles