झारखंड सरकार को किया जा रहा परेशान, फिर से बिजली काटे जाने की दी चेतावनी

राज्य के 13 में से सात जिलों में फिर से बिजली काटे जाने की चेतावनी को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता ने सोमवार को कहा कि डीवीसी और भारतीय जनता पार्टी की मिलीभगत के कारण झारखंड जैसे पिछड़े राज्य को इस तरह की चेतावनी दी जा रही है।

रांची: झारखंड कांग्रेस ने दामोदर घाटी निगम (डीवीसी) के राज्य के 13 में से सात जिलों में फिर से बिजली काटे जाने की चेतावनी को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता ने सोमवार को कहा कि डीवीसी और भारतीय जनता पार्टी की मिलीभगत के कारण झारखंड जैसे पिछड़े राज्य को इस तरह की चेतावनी दी जा रही है। साथ ही राज्य सरकार को परेशान करने के लिए केंद्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार का भी शामिल रहा है।

प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने कहा कि डीवीसी झारखंड के संसाधनों, जमीन, पानी और कोयला का उपयोग कर प्रति वर्ष करोड़ों रुपये का मुनाफा कमा रही है। डीवीसी पर पानी-बिजली का अरबों रुपये बकाया है और जमीन देने वाले कई विस्थापित परिवारों को अब तक समुचित नौकरी तथा मुआवजा भी नहीं मिल पाया है।

ये भी पढ़ें : छापेमारी में देह व्यापार का बड़ा खुलासा, हर ग्राहक से वसूलती थी बड़ी कीमत

उस संबंध में डीवीसी के अधिकारी कुछ नहीं बोलते, उल्टे धमकी देने का जनविरोधी काम किया जा रहा है, जिसका खामियाजा आने वाले समय में डीवीसी को ही उठाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती रघुवर दास सरकार में जानबूझ कर पूरे बिजली विभाग की व्यवस्था को तहस-नहस किया गया। राज्य में अधिकांश समय तक भाजपा का शासन रहा लेकिन बिजली उत्पादन में बढ़ोतरी की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया।

Related Articles