जिन्दल पावर ने नीलामी में हासिल किया छत्तीसगढ़ का कोल खदान

जिन्दल पावर लिमिटेड (JPL) को गारे पालमा 4/1 कोयला खदान के लिए सफल बोलीदाता घोषित किया है।

रायपुर: कोयला मंत्रालय (Ministry of Coal) ने उद्योगपति (Industrialist) नवीन जिन्दल के नेतृत्व वाली कंपनी जिन्दल स्टील एंड पावर लिमिटेड (JSPL) की सहायक कंपनी जिन्दल पावर लिमिटेड (जे.पी.एल.) को गारे पालमा 4/1 कोयला खदान के लिए सफल बोलीदाता घोषित किया है।

कंपनी की आज यहां यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार जिन्दल पावर लिमिटेड ने बोली के लिए निर्धारित प्रतिनिधि मूल्य के 25 प्रतिशत प्रीमियम पर गारे पालमा 4/1 कोयला खदान को नीलामी में हासिल कर लिया। इस कोल खदान के मिलने से तमाम मुश्किलों से जूझ रहे जिन्दल पावर लिमिटेड (JPL) को काफी राहत मिलने के आसार है।

यह कोल ब्लाक पहले भी इसी समूह के पास था लेकिन बाद में उच्चतम न्यायालय के कोल ब्लाकों के रद्द करने के निर्णय के बाद यह कंपनी से छिन गया था। इससे इस कोल ब्लाक के बिल्कुल निकट स्थित कंपनी के 3400 मेगावट (Megawatt) क्षमता के बिजलीघर में उत्पादन लगभग नगण्य हो गया था।

देश के निजी क्षेत्र के बड़े संयंत्रों में से एक तमनार न तो रेल मार्ग और न ही बेहतर सड़क मार्ग से जुड़ा है। तमनार संयंत्र में बाहर से कोयला लाकर उत्पादन करना भारी घाटे का सौदा था। लिहाजा कंपनी केवल नाम मात्र का उत्पादन कर रही थी। कंपनी ने कोल ब्लाक आवंटन होने के बाद ही इसके निकट इस संयंत्र की स्थापना की थी। जिस समय आवंटन (Allotment) रद्द हुआ उससे काफी पहले इसमें उत्पादन शुरू हो चुका था।

यह भी पढ़े: जेल में बंद सपा (SP) के पूर्व विधायक की करोड़ो की संपत्ति ज़ब्त

Related Articles

Back to top button