मोबाइल ग्राहकों का आंकड़ा छूने वाली देश की पहली कंपनी बनी जियो

Mukesh Ambani
Mukesh Ambani

नई दिल्ली: मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो ने देश के मोबाइल सेवा क्षेत्र में अपनी बादशाहत बरकरार रखते हुए मात्र चार सालों में बड़ा मील का पत्थर हासिल कर जुलाई-2020 में 40 करोड़ उपभोक्ताओं का आंकड़ा पार कर लिया।

कई कंपनियों को जियो ने पिछाड़ा

एशिया के सबसे अमीर मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो ने 5 सितंबर 2016 को देश के दूरसंचार क्षेत्र में कदम रखा था। और चार साल में ही इस क्षेत्र में वर्षों से जड़ जमाये बैठीं भारती एयरटेल और वोडा आइडिया को आक्रामक नीति, सस्ते प्लान और देश के दूरस्थ स्थानों पर नेटवर्क पहुंचा कर 40 करोड़ ग्राहकों वाली देश की पहली दूरसंचार सेवा प्रदाता बन गयी।

देश में मोबाइल सेवा दूरसंचार क्षेत्र को शुरु हुए 25 वर्ष हो गए और पहले 40 करोड़ ग्राहक जोड़ने में क्षेत्र को 14 वर्ष लगे थे। वहीं जियो ने यह काम 4 वर्ष से भी कम समय में कर दिखाया। ट्राई के आंकड़ो के अनुसार जुलाई में मोबाइल कनेक्शन के आंकड़े पांच माह बाद बढ़े हैं। कोरोना वायरस के कारण लाकडाउन लगने से पांच माह से लगातार गिर रहे थे।

भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण ( ट्राई ) ने सोमवार देर शाम जुलाई के जारी आंकड़ो में जियो ने नए ग्राहकों को बनाने का सिलसिला बरकरार रखते हुए 35 लाख 54 हजार 415 उपभोक्ता जोड़े और कुल ग्राहक 40 करोड़ 08 लाख 3018 हो गए।

जियो का मार्केट हिस्सा 35.03 प्रतिशत

मोबाइल ग्राहकों के मामलों में दूसरे नंबर की भारती एयरटेल भी जुलाई में कई माह बाद नये ग्राहक जोड़ने में कामयाब रही। कंपनी 32 लाख 60 हजार 536 नये उपभोक्ताओं के साथ 31 करोड़ 99 लाख 32 हजार 20 ग्राहक वाली कंपनी बन गई। भारती एयरटेल का बाजार हिस्सा 27.96 प्रतिशत है।

वोडा आइडिया के ग्राहकों के टूटने का सिलसिला जुलाई में भी जारी रहा और कंपनी ने 37 लाख 26 हजार 121 उपभोक्ता खो दिये। कंपनी 30 करोड़ 13 लाख 77 हजार 755 ग्राहक और 26.34 प्रतिशत हिस्से के साथ तीसरे स्थान पर है। सरकारी कंपनी बीएसएनएल ने तीन लाख 88 हजार 313 ग्राहक बनाए और 11 करोड़ 86 लाख पांच हजार 117 उपभोक्ता और 10.37 प्रतिशत बाजार हिस्से के साथ अपने चौथे स्थान पर काबिज रही।

ये भी पढ़ें: यूपी और उत्तराखंड की 11 सीटों पर 9 नवंबर को होगा मतदान, ये सांसद हो रहे रिटायर

Related Articles