J&K: PDP का दावा, घर में नजरबंद हैं महबूबा मुफ्ती

श्रीनगर: पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी ने सोमवार को दावा किया कि पार्टी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती को पिछले हफ्ते सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच गोलीबारी में मारे गए 1 युवक के परिवार से मिलने के लिए अनंतनाग जाने से रोकने के लिए उसे नजरबंद कर दिया गया था। पार्टी के एक अधिकारी ने दावा किया कि सुरक्षा कारणों से मुफ्ती को बाहर निकलने तक सीमित कर दिया गया और पुलिस ने उनके घर के मुख्य द्वार को बंद कर दिया।

पीड़ित परिवार से मिलना चाहती थी महबूबा मुफ्ती

PDP नेता ने दावा किया कि महबूबा को यहां शहर के गुप्कर इलाके में उनके फेयरव्यू आवास में नजरबंद कर दिया गया और उन्हें बाहर नहीं जाने दिया गया। उन्हें दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में मारे गए युवक शाहिद अहमद के परिवार से मिलने जाना था। पार्टी नेता ने कहा कि वह शोक संतप्त परिवार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करना चाहती थीं, लेकिन उन्हें अपने आवास से बाहर नहीं निकलने दिया गया।

PDP नेता के मुताबिक, पुलिस ने महबूबा के घर के मेन गेट पर ताला लगा दिया है। किसी भी तरह की आवाजाही पर रोक लगाने के लिए गेट के ठीक बाहर एक पुलिस वाहन तैनात किया गया है। अहमद की मौत पर घाटी में मुख्यधारा के राजनीतिक दलों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी और उन्होंने इसकी जांच की मांग की थी।

महबूबा ने कहा था कि यह दुखद है कि कश्मीर में सशस्त्र बल “इतनी दण्ड से मुक्ति” के साथ काम करते हैं। पुलिस के अनुसार, 24 अक्टूबर को शोपियां जिले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के जवानों और आतंकवादियों के बीच गोलीबारी में शाहिद अहमद की मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें: Diwali 2021: UP सरकार जलाएगी अयोध्या में 12 लाख दीपक

Related Articles